Top

मत ही खाओ नूडल्स तो ही अच्छा है, मैगी को लगा जोर का झटका

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 3 April 2017 11:21 AM GMT

मत ही खाओ नूडल्स तो ही अच्छा है, मैगी को लगा जोर का झटका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी : दो मिनट में तैयार होने वाली मैगी एक बार फिर मुसीबत में है। मल्टी नेशनल कंपनी नेस्ले के प्रोडक्ट मैगी के कुछ सैम्पल 8 मई 2015 को जाँच के लिए भेजे गए थे जो मानक जांच में फेल हो गए हैं। नमूने मानक की जांच में फेल होने पर एडीएम कोर्ट ने नेस्ले पर 6 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है।

एफएसडीए के क्षेत्रीय अधिकारी उमेश सिंह ने बीते 8 मई 2015 को लोनीकटरा थाना क्षेत्र के इलियासपुर निवासी चंद्र नरायण पुत्र हरी प्रसाद की दुकान से मैगी का नमूना भरा था। वहीं फतेहपुर क्षेत्र के खाद्य सुरक्षा अधिकारी वीरेंद्र कुमार ने 27 मई 2015 को उमेश चंद्र पुत्र जगमोहन लाल की फतेहपुर स्थित दुकान से व यहीं के सप्लायर रवींद्र ट्रेडर्स से सैम्पलिंग की गई थी।

अगली स्लाइड में देखिए क्या कहती है जाँच रिपोर्ट

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story