‘घटतौली’ खेल का सरगना हुबली से गिरफ्तार, चिप को द. अफ्रीका-आबूधाबी तक करता था सप्लाई

Published by aman Published: July 13, 2017 | 6:15 am
Modified: July 13, 2017 | 6:28 am
घटतौली: HC ने जांच पर उठाए सवाल, पुलिस से कहा- रिपोर्ट में दिख रहा मनमौजीपन

मुंबई: यूपी सहित देशभर के पेट्रोल पंपों पर घटतौली करने वाली इलेक्ट्रॉनिक चिप लगाने वाला मुख्य सरगना प्रकाश नूलकर गिरफ्तार हो गया है। नूलकर को कर्नाटक के हुबली से दबोचा गया है। पूछताछ में प्रकाश नूलकर ने बताया कि यह चिप चीन से आती थी। चिप की प्रोग्रामिंग करके यूपी सहित अन्य राज्यों ही नहीं बल्कि दक्षिण अफ्रीका और आबूधाबी में भी सप्लाई किया जाता था।

ये भी पढ़ें …घटतौली का खेल: पेट्रोल पंप वालों ने ग्राहकों से लूटे एक लाख 22 हजार करोड़ रुपए

इस बारे में ठाणे के पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह ने बताया कि नूलकर कोरियर के जरिए विदेशों में चिप की सप्लाई करता था। उसने महाराष्ट्र के कोल्हापुर में दो और गोवा में एक पेट्रोल पंप खुद चलाने के लिए लिया था। गौरतलब है कि यूपी एसटीएफ ने बीते 27 अप्रैल को लखनऊ में पेट्रोल पंप की डिस्पेंसिंग मशीनों में चिप लगाकर घटतौली का पर्दाफाश किया था। तभी से इस गिरोह के सरगना की तलाश जारी थी।

ये भी पढ़ें …घटतौली मामला: पेट्रोल पंप मालिकों को HC से राहत नहीं, सरकार ने कहा- इनका कारनामा विश्वासघात भरा

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर …

पंप वालों को 25 से 50 हजार रुपए में बेचता था 
इससे पहले यूपी एसटीएफ ने आरोपी विवेक शेट्ये को डोंबिवली से और एक अन्य आरोपी को पुणे से गिरफ्तार किया था। परमवीर सिंह ने बताया कि ‘नूलकर पेट्रोल पंपों के डिस्पेंसर यूनिट में पल्सर इलेक्ट्रॉनिक किट, माइक्रो कंट्रोलर कार्ड, और कैलिब्रेशन मशीन में चेंज करने के लिए खुद ही आईसी (इंटिग्रेटेड सर्किट) बनाता था। वह इसे पेट्रोल पंप वालों को 25 से 50 हजार रुपए तक में बेचता था।’

120 पंप मालिकों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज 
इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के जरिए पेट्रोल पंपों में पेट्रोल, डीजल चोरी के अभियान में 120 पंप मालिकों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई गई और 37 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। घटतौली के विरुद्ध अभियान जारी है। स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गत माह इलेक्ट्रानिक डिवाइस के जरिये पेट्रोल पंपों में घटतौली के विरुद्ध अभियान शुरू किया और कई पंपों में चोरी पकड़ी थी।