Top

प्रवासी भारतीय दिवस: PM बोले- हम पासपोर्ट का कलर नहीं देखते, खून का रिश्ता सोचते हैं

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 8 Jan 2017 5:33 AM GMT

प्रवासी भारतीय दिवस: PM बोले- हम पासपोर्ट का कलर नहीं देखते, खून का रिश्ता सोचते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बैंगलोर: पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को बैंगलोर में 14वें प्रवासी भारतीय दिवस को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुझे आज आप सभी को संबोधित करते हुए काफी खुशी महसूस हो रही है। ये एक ऐसा पर्व है जिसमें होस्ट भी आप हैं और गेस्ट भी आप ही हैं। प्रवासी भारतीय जहां रहे, उन्होंने उस धरती को कर्मभूमि बनाया। वो जहां रहे, वहां का विकास किया। हम पासपोर्ट का कलर नहीं देखते, खून का रिश्ता सोचते हैं

और क्या बोले पीएम मोदी ?

-आज आप उस कर्मभूमि की सफलताओं को उस भूमि में पधारे हैं जहां से आपके पूर्वजों को प्रेरणा मिलती रहती है

-विदेशों में भारतीयों को केवल संख्या की वजह से नहीं जाना जता है, बल्कि उनके योगदान के लिए उन्हें सम्मानित किया जाता है।

-मेरी सरकार और व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए विदेशों में रह रहे भारतीय समुदाय की सहभागिता प्राथमिकता रही है।

-हजारों लाखों भाई -बहनें, यूके, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, जापान, केन्या, मलेशिया और अन्य देशों रह कर भी भारत की तरक्की में सहयोग दे रहे हैं।

-प्रवासी भारतीय में देश के विकास के लिए अदम्य इच्छा शक्ति हैं. वो देश की प्रगति में सहयात्री हैं।

-वर्तमान सरकार ब्रेन ड्रेन को ब्रेन गेन में बदलना चाहती है। मैंने विदेशों में रह रहे भारतीयों की समस्याओं को तरजीह देने की सलाह दे रखी है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story