×

राम सिंह मीणा- भविष्य में बढ़ते साइबर क्राइम के लिए पुलिस को बड़े स्तर पर ट्रेनिंग की जरूरत

अपर पुलिस महानिदेशक (प्रशासन) राम सिंह मीणा ने कहा कि साइबर क्राइम से निपटना पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। भविष्य में इससे अपराध बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुए पुलिस को बड़े स्तर पर प्रशिक्षण देने और लेने की जरूरत है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 17 Feb 2018 8:56 AM GMT

राम सिंह मीणा- भविष्य में बढ़ते साइबर क्राइम के लिए पुलिस को बड़े स्तर पर ट्रेनिंग की जरूरत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

देहरादून: अपर पुलिस महानिदेशक (प्रशासन) राम सिंह मीणा ने कहा कि साइबर क्राइम से निपटना पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। भविष्य में इससे अपराध बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुए पुलिस को बड़े स्तर पर प्रशिक्षण देने और लेने की जरूरत है।

अपर पुलिस महानिदेशक राम सिंह मीणा नरेंद्र नगर के पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय में 29 महिला उपनिरीक्षकों के पासिंग आउट परेड के दीक्षांत समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समय के साथ अपराधों के तौर-तरीके बदलते जा रहे हैं और अब साइबर क्राइम के बढ़ते अपराधों को देखते हुए भविष्य में पुलिस को इन अपराधियों को पकड़ने के लिए और दक्ष बनाने की जरूरत है।

अपर पुलिस अधीक्षक ने 29 महिला उपनिरीक्षकों को शपथ दिलाते हुए कहा कि आपराधिक जगत में महिला पुलिस की भूमिका बेहद अहम हो गई है‌। दीक्षांत परेड में महिला उपनिरिक्षकों के जोशीले रवैये की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि आज महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए पुरुष के बराबर समानता का अधिकार प्राप्त है।

29 महिला उप निरीक्षक पुलिस में शामिल

राम सिंह मीणा ने उम्मीद जताई कि प्रशिक्षिण प्राप्त महिला उप निरीक्षक अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करेंगी और समाज में पुलिस की भूमिका को और बेहतर बनाएंगी। उन्होंने कहा पुलिस जैसे विभाग में आगे बढ़ने के अवसरों का लाभ लेने से कभी रुकना नहीं चाहिए। साथ ही इसके लिए शारीरिक और मानसिक सेहत बहुत जरूरी है। इस दीक्षांत परेड में 76 महिला उप निरीक्षक थीं। इनमें 29 महिला उपनिरीक्षक उत्तराखंड पुलिस की मुख्यधारा में शामिल होंगी। जबकि 47 महिला उपनिरीक्षकों की पासिंग आउट परेड आगामी मई महीने में होगी।

पुलिस को दक्ष बनाने की जरूरत

महानिदेशक राम सिंह मीणा नरेंद्र नगर के पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय में 29 महिला उपनिरीक्षकों के पासिंग आउट परेड के दीक्षांत समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समय के साथ अपराधों के तौर-तरीके बदलते जा रहे हैं और अब साइबर क्राइम के बढ़ते अपराधों को देखते हुए भविष्य में पुलिस को इन अपराधियों को पकड़ने के लिए और दक्ष बनाने की जरूरत है। अपर पुलिस अधीक्षक ने 29 महिला उपनिरीक्षकों को शपथ दिलाते हुए कहा कि आपराधिक जगत में महिला पुलिस की भूमिका बेहद अहम हो गई है‌।

महिलाओं की प्रशंसा की

दीक्षांत परेड में महिला उपनिरिक्षकों के जोशीले रवैये की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि आज महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए पुरुष के बराबर समानता का अधिकार प्राप्त है। राम सिंह मीणा ने उम्मीद जताई कि प्रशिक्षिण प्राप्त महिला उप निरीक्षक अपने कर्तव्यों का इमानदारी से पालन करेंगी और समाज में पुलिस की भूमिका को और बेहतर बनाएंगी। उन्होंने कहा कि पुलिस जैसे विभाग में आगे बढ़ने के अवसरों का लाभ लेने से कभी रुकना नहीं चाहिए। साथ ही इसके लिए शारीरिक और मानसिक सेहत बहुत जरूरी है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story