राष्ट्रपति की ‘एट होम’ पार्टी: PM मोदी सहित जुटे ये दिग्गज, सोशल डिस्टेंसिंग का ख़ास ख्याल

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सीडीएस जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, चीफ ऑफ नेवल स्टाफ एडमिरल करमबीर सिंह और एयरफोर्स चीफ एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया पहुंचे हैं।

राष्ट्रपति की 'एट होम' पार्टी: पीएम मोदी सहित जुटे ये दिग्गज, सोशल डिस्टेंसिंग का ख़ास ख्याल

राष्ट्रपति की 'एट होम' पार्टी: पीएम मोदी सहित जुटे ये दिग्गज, सोशल डिस्टेंसिंग का ख़ास ख्याल

नई दिल्ली: देश को आजाद हुए आज चौहत्तर साल हो गए हैं। इस 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति भवन में ‘एट होम’ पार्टी दे रहे हैं। इस पार्टी में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और लोक सभा स्पीकर ओम बिड़ला पहुंचे हैं। बता दें कि हर साल सामान्य स्थिति में इस तरह के कार्यक्रमों में मेहमानों की सूची काफी लंबी होती है।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में ‘एट होम’ पार्टी

बता दें कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सीडीएस जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, चीफ ऑफ नेवल स्टाफ एडमिरल करमबीर सिंह और एयरफोर्स चीफ एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया पहुंचे हैं।

अधिक लोगों के इकट्ठा न होने वाले प्रोटोकॉल का पालन

कोविड-19 के कारण सामाजिक दूरी और अधिक लोगों के इकट्ठा न होने वाले प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए 15 अगस्त को राष्ट्रपति की ओर से ‘एट होम रिसेप्शन’ में कई कटौतियां की गई हैं। आमतौर इस कार्यक्रम में 1200-1300 मेहमान शिरकत फरमाते हैं, लेकिन कोरोना के कारण इस बार ‘एट होम रिसेप्शन” में 100 से ज्यादा मेहमान शामिल नहीं हो पाएंगे और कार्यक्रम का आयोजन राष्ट्रपति भवन कन्वेंशन सेंटर (आरबीसीसी) में किया जाएगा।

ये भी देखें: खत्म हुआ इंतज़ार: 5 महीने बाद भक्तों के लिए खुला वैष्णो देवी का दरबार 

सामाजिक दूरी का विशेष ख्याल

अब तक स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मेहमानों से मुलाकात के लिए मेहमान एक कतार में लगे रहते थे, लेकिन इस बार सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए मेहमानों की सूची में कटौती की गई है। इसलिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान मेहमान एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर खड़े रहेंगे। वहीं दोनों गणमान्य व्यक्तियों के लिए खास व्यवस्था की गई है। वहीं इस दौरान प्रवेश और निकास के लिए सख्त प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। मेहमानों के आगमन के दौरान उनके लिए मास्क, सैनिटाइजर की व्यवस्था होगी।

सभी मंत्रियों को नहीं मिला न्योता

सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस बार कैबिनेट या मंत्रिपरिषद के सभी मंत्रियों को न्योता नहीं भेजा जाएगा। जानकारी के मुताबिक, केवल चार मंत्रियों को इस कार्यक्रम के लिए निमंत्रण भेजा गया। जिसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, विदेश मंत्री एस जयशंकर, और गृह मंत्री अमित शाह के नाम हैं।

ये भी देखें:  महिंद्रा की नई थार: ग्राहकों को 15 अगस्त का तोहफा, एक झलक में आ जाएगी पसंद

विदेशी दूतों को कम बुलाया गया

मंत्रियों के अलावा इस कार्यक्रम में शिरकत करने वाले विदेशी दूतों की संख्या भी घटा दी गई है। दिल्ली में 170 दूतावास/उच्च आयोग और अन्य प्रतिनिधियां मौजूद है। लेकिन कोरोना वायरस को देखते हुए इनमें से कुछ ही दूतों को निमंत्रण भेजा जाएगा। बताया गया है कि इस बार निमंत्रण कार्ड जी-8, ब्रिक्स, यूरोपीय संघ जैसे क्षेत्रीय और वैश्विक ब्लॉकों के आधार पर होने जा रहा है। जिसमें 15 से अधिक मेहमानों को निमंत्रण नहीं भेजा जाएगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App