Top

पुणेः सेना के 4 जवानों ने 4 साल तक किया दिव्यांग महिला का रेप, विभाग ने दिए जांच के आदेश

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 17 Oct 2018 6:28 AM GMT

पुणेः सेना के 4 जवानों ने 4 साल तक किया दिव्यांग महिला का रेप, विभाग ने दिए जांच के आदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पुणे: पुणे से इंसानियत को शर्मशार कर देने वाला एक मामला सामने आया है। यहां सेना के 4 जवानों पर दिव्यांग के साथ रेप करने के आरोप में केस दर्ज कर लिया गया है। चारों जवानों पर एक गूंगी और बहरी महिला (30) के साथ चार साल तक जबरन शारीरिक संबंध बनाने का आरोप है।

मामले के सामने आने के बाद खडकी स्थित सेना के हेड क्वार्टर की तरफ से चारों आरोपियों के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश जारी कर दिया है।

ये है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पीड़िता घर के पास एक आर्मी हॉस्पिटल में जॉब करती थी। उस पर शुरू से ही सेना के एक जवान की बुरी नजर थी। उसने यहीं पर अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर 4 साल तक उसका रेप किया। महिला बोल और सुन नहीं सकती है। इसलिए इसका फायदा उठाकर सेना के जवान घटना को अंजाम देते रहे।

पीड़िता ने किसी तरह से जुलाई में इंदौर के एक एनजीओ से संपर्क साधा। एनजीओ ने एक्सपर्ट की मदद से इशारों में पीड़िता के बयान लिये। बयान लेने के एनजीओ की टीम महिला के साथ पुणे आई और हॉस्पिटल के कमांडेंट से चारों जवानों की शिकायत दर्ज कराई। सोमवार को महिला ने इंदौर के डीआईजी हरि नारायणचारी मिश्रा से मुलाकात की।

रिपोर्ट में दर्ज शिकायत के मुताबिक़ महिला जुलाई 2014 में आर्मी हॉस्पिटल में काम कर रही थी। उसकी नाइट शिफ्ट थी और उसी दौरान एक जवान ने वॉर्ड के टायलेट में उसके साथ दुष्कर्म किया।

ये भी पढ़ें...पुणे के शोध संस्थान में न्यूटन वाले सेब के पेड़ उगाने की कोशिश

महिला ने अपने उच्चाधिकारी और नर्सिंग असिस्टेंट को मेसेज भेजकर इसकी शिकायत की। उच्चाधिकारी ने उसे कार्रवाई का भरोसा दिया। आरोप है कि उच्‍चाधिकारी ने उसे बात करने के लिए बुलाया तो उसने भी उसके साथ दुष्कर्म किया।

महिला का आरोप है कि वह उसे ब्लैकमेल करते रहे और धमकाते रहे कि आगे वह अगर शारीरिक संबंध नहीं बनाएगी तो वे उसका विडियो वायरल कर देंगे। दोनों आरोपी और दो अन्य जवानों के साथ मिलकर उसका रेप करने लगे। उन लोगों ने चार साल तक उसे अपनी हवस का शिकार बनाया।

सीनियर इंस्पेक्टर राजेंद्र मोहिते के मुताबिक दो जवानों ने महिला के साथ सेक्स करने के दौरान विडियो क्लिप भी बनाई और फिर उसे विडियो क्लिप के जरिए फंसाने की कोशिश करने लगे। महिला का आरोप है कि उसने अपने अन्य अधिकारियों को इसकी शिकायत की लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं हुई।

महिला के अनुसार उसके पति की डेथ हो चुकी है। उसे उनकी जगह जॉब मिली थी। उसका अपना बारह साल का पुत्र भी है। उसने दुष्कर्म से खुद को बचाने के लिए अधिकारियों से निवेदन किया कि उसकी ड्यूटी दिन में लगाई जाए लेकिन उन्होंने उसकी एक न सुनी।

इस मामले के सामने आने के बाद से आरोपियों के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश जारी किये जा चुके हैं। छह अधिकारियों की एक कमिटी गठित बनाई गई है। इसमें एक महिला अधिकारी को शामिल जांच रिपोर्ट आने के बाद विभाग आरोपियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करेगा।

ये भी पढ़ें...मीटू केम्पेन: अब भाजपा नेता शाहनवाज़ हुसैन पर महिला ने लगाए रेप के आरोप, कहा ‘नहीं हो रही कार्रवाई’

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story