सोनिया की मोदी को चिट्ठी: LS में बहुमत है, पास कराएं महिला आरक्षण बिल

कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी ने गुरुवार (21 सितंबर) को पीएम नरेंद्र मोदी से लोकसभा में अविलंब महिला आरक्षण विधेयक पारित करने का आग्रह किया।

Published by tiwarishalini Published: September 21, 2017 | 4:22 pm
Modified: September 21, 2017 | 4:26 pm
सोनिया की मोदी को चिट्ठी: LS में तो बहुमत है, पास कराएं महिला आरक्षण बिल

सोनिया की मोदी को चिट्ठी: LS में तो बहुमत है, पास कराएं महिला आरक्षण बिल

नई दिल्ली: कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी ने गुरुवार (21 सितंबर) को पीएम नरेंद्र मोदी से लोकसभा में अविलंब महिला आरक्षण विधेयक पारित करने का आग्रह किया। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) लोकसभा में बहुमत में है।

मोदी को लिखे एक पत्र में सोनिया ने कहा, “आप को याद होगा कि राज्यसभा ने महिला आरक्षण विधेयक को 9 मार्च, 2010 को पारित कर दिया है। तब से यह एक या दूसरे कारणों से यह लोकसभा में लटका पड़ा है।”

सोनिया ने कहा कि मैं आपसे लोकसभा में अपने बहुमत का फायदा लेने का आग्रह करती हूं। जिससे निचले सदन में महिला आरक्षण विधेयक को पारित किया जा सके।

सोनिया ने लिखी मोदी को चिट्ठी, कहा- LS में तो आपका बहुमत है, पास कराएं महिला आरक्षण बिल

सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा से इस विधेयक का समर्थन करती रही है, जो महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने यह भी कहा कि यह कांग्रेस ही थी जिसने महिलाओं के लिए पंचायतों व नगरपालिकाओं में आरक्षण की प्रक्रिया को शुरू किया था।

यह भी पढ़ें … असहिष्णुता ने विदेशों में बिगाड़ी इंडिया की छवि, है चिंता का विषय: राहुल गांधी

सोनिया ने कहा, “आप को याद होगा कि वास्तव में यह कांग्रेस और इसके दिवंगत नेता राजीव गांधी ही थे, जिन्होंने संविधान संशोधन विधेयकों के जरिए नगरपालिकाओं और पंचायतों में महिलाओं के आरक्षण के प्रावधान की पहल की थी, जिसे तब विपक्षी दलों ने 1989 में राज्यसभा में विफल किया था।”

यह भी पढ़ें … सोनिया के दामाद बोले- मुझे बहुत प्रताड़ित किया, खट्टर अब इस्तीफा दो

उन्होंने कहा, “बाद में संसद के दोनों सदनों ने 1993 में इसे पारित किया व यह 73वें व 74वें संशोधन बने।”