#Diwali2017: रोशन होगा देश हमारा, SpiceJet असम के गांव में देगी बिजली

किफायती विमानन कंपनी स्पाइसजेट (SpiceJet ) असम (Assam) के माजुली (Majuli)जिले के दूर-दराज के गांव बारुआचक (Baruahchuck)में बिजली की सुविधा मुहैया कराएगी।

Published by tiwarishalini Published: October 19, 2017 | 10:58 am
Modified: October 19, 2017 | 1:10 pm
#Diwali2017: रोशन होगा देश हमारा, स्पाइसजेट असम के गांव में देगी बिजली

#Diwali2017: रोशन होगा देश हमारा, स्पाइसजेट असम के गांव में देगी बिजली

नई दिल्ली : किफायती विमानन कंपनी स्पाइसजेट (SpiceJet) असम (Assam) के माजुली (Majuli)जिले के दूर-दराज के गांव बारुआचक (Baruahchuck)में बिजली की सुविधा मुहैया कराएगी।

विमानन कंपनी ने अपनी ‘रोशन होगा देश हमारा’ पहल के तहत इस दूरदराज के गांव को गोद लिया है, जिसे दिवाली के अवसर पर लांच किया जाएगा। असम में ब्रह्मपुत्र नदी के बीच 880 वर्ग किलोमीटर में फैले माजुली का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दुनिया के सबसे बड़े नदी द्वीप के रूप में दर्ज है। गौरतलब है कि इससे पहले तक ब्राजील के अमेजन नदी में स्थित मेरेजो के पास सबसे बड़े नदी द्वीप का दर्जा था। जो अब इंसानों के रहने लायक जगह नहीं रही।

यह भी पढ़ें …. मोदी बोले- अगर बनी बीजेपी की सरकार तो दुनिया कहेगी A FOR ASSAM

इस पहल के तहत स्पाइसजेट इस गांव में एक ‘सोलर माइक्रोग्रिड’ की स्थापना करेगी। जिससे करीब 70 घरों, एक स्कूल, एक आंगनवाड़ी केंद्र और दो मंदिरों के अलावा स्ट्रीट लाइटिंग के लिए बिजली मुहैया कराई जाएगी।

सोलर माइक्रोग्रिड एक छोटे पैमाने पर बिजली ग्रिड है। जो कि स्वतंत्र रूप से या क्षेत्र के मुख्य विद्युत ग्रिड के साथ मिलकर काम कर सकता है। जिससे सीमित संख्या में घरों में बिजली उपलब्ध कराई जा सके।

यह भी पढ़ें …. PHOTOS: असम के माजुली को गिनीज ने दिया वर्ल्ड के सबसे बड़े नदी द्वीप का दर्जा

माजुली द्वीप में लगभग डेढ़ लाख लोग रहते हैं। माजुली द्वीप में रहने वाले लोग मिसिंग. आसामी और देयोरी लैंग्वेज बोलते हैं। इस द्वीप में 144 गांव हैं और इसकी डेंसिटी 300 व्यक्ति प्रति स्क्वायर किमी. है।

बता दें कि बीजेपी नेता और असम के सीएम बने सर्वानंद सोनोवाल ने माजुली से ही असेम्बली इलेक्शन लड़ा था। माजुली द्वीप यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट के रूप में भी नामित किया जा चुका है। इस द्वीप पर बिना पेस्टीसाइड्स इस्तेमाल किए 100 से ज्यादा वैराएटी के चावल की खेती की जाती है।

 

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App