Top

तृणमूल कांग्रेस के नेता की हत्या, बेटे ने लगाया बीजेपी पर आरोप

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 17 April 2017 3:54 PM GMT

तृणमूल कांग्रेस के नेता की हत्या, बेटे ने लगाया बीजेपी पर आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलकाता : सूबे की सत्ता पर काबिज तृणमूल कांग्रेस के एक नेता की हत्या, नादिया जिले में पार्टी कार्यालय के अंदर गोली मारकर की गई। जिले की बागुला पंचायत के नेता दुलाल बिस्वास को रविवार शाम पेट में कई गोलियां मारी गईं, उन्हें गंभीर हालत में कृष्णानगर हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उन्हें डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

ये भी देखें :कुलभूषण से जुड़ी याचिका पर HC ने कहा- केंद्र बातचीत का सहारा ले करे जाधव को बचाने का प्रयास

बिस्वास के बेटे ने बताया कि मैं पार्टी कार्यालय के सामने खड़ा था, उसी समय 10-12 लोग मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए और मेरे पिता के उपर गोलियां बरसाने लगे। मैंने उनमें से कुछ को पहचान लिया है। वे माकपा और भाजपा की इकाइयों के सक्रिय सदस्य हैं।

तृणमूल महासचिव पार्था चटर्जी ने कहा यह तृणमूल कांग्रेस को उस इलाके में राजनीतिक रूप से कमजोर करने की एक कोशिश है। हम मृतक के परिवार और वहां के पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ हैं। प्रशासन इस मुद्दे से सख्ती से निपटेगा।

सांसद अभिषेक बनर्जी ने कहा यह एक कायराना हरकत है। हमें खबर मिली है कि कुछ बदमाशों का बीजेपी से सक्रिय जुड़ाव है। वहीँ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस आरोप लगाकर अपनी खामियों और आंतरिक झगड़े पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story