कासगंज हिंसा: UP DGP बोले- जरूरत पड़ी तो रासुका भी लगाएंगे, नहीं बख्शेंगे

कासगंज हिंसा पर DGP बोले- जरूरत पड़ी तो रासुका भी लगाएंगे, नहीं बख्शेंगे

नई दिल्ली: यूपी के कासगंज में गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगा रैली के दौरान भड़की हिंसा रविवार (28 जनवरी) को भी जारी रही। इस बीच यूपी के नवनियुक्त डीजीपी ओपी सिंह ने एक समाचार एजेंसी से बातचीत में कहा, कि ‘फिलहाल कासगंज में स्थिति नियंत्रण में है। बीते कुछ घंटों से कोई घटना सामने नहीं आई है।’

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, ‘कासगंज में स्थिति इस वक़्त नियंत्रण में है। बीते कुछ घंटों से कोई घटना सामने नहीं आई है। उन्होंने बताया, काफी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इलाके में पेट्रोलिंग की जा रही है।’

ये भी पढ़ें…रह-रह कर सुलग रहा कासगंज, फिर दुकान में लगाई आग, 50 गिरफ्तार

राजनैतिक दलों के नेताओं के दौरे पर प्रतिबंध
प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने आगे कहा, जिले में कानून व्यवस्था बनाए सुदृढ़ रखना उनका लक्ष्य है। डीजीपी बोले, ‘कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए कोई भी कदम उठाया जा सकता है। इसी के तहत सभी राजनैतिक पार्टियों के नेताओं के दौरे पर प्रतिबंध लगाया गया है।’

ये भी पढ़ें…कासगंज कांड : 9 अभिुयक्त गिरफ्तार, पेट्रोल पंप बंद, सीमाएं सील

जरूरत पड़ी तो रासुका भी लगाएंगे
डीजीपी सिंह ने ये माना, कि कासगंज में दो समुदायों के बीच बवाल हुआ था। उन्होंने आगे कहा, ‘आरोपियों और असामाजिक तत्वों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। जरूरत पड़ने पर रासुका भी लगाया जा सकता है।’ उन्होंने कहा, हमारे अधिकारी लगातार गिरफ्तारियां कर रहे हैं। साथ ही घर-घर तलाशी भी ली जा रही है।’ बता दें कि इसी तरह की तलाशी में रविवार को एक घर से कुछ देसी बम मिले।