जिम ट्रेनर को गोली मारने वाला दारोगा जेल भेजा गया, 4 अन्य सस्पेंड

जिम ट्रेनर को गोली मारने वाला दारोगा जेल भेजा गया, 4 अन्य सस्पेंड

नोएडा: नोएडा: नोएडा में यूपी पुलिस के एक दरोगा की दादागीरी सामने आई है। इस दारोगा पर आरोप है कि उसने मामूली विवाद में दो युवकों को गोली मार दी। इतना ही नहीं उसने इस घटना को एनकाउंटर का रूप भी देने की कोशिश की है। यूपी पुलिस ने दारोगा विजय दर्शन के खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नोएडा के मुताबिक, ‘शनिवार रात थाना क्षेत्र फेज- 3 क्षेत्र में हुई घटना पुलिस मुठभेड़ नहीं है। परिजनों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है तथा आरोपी दरोगा को गिरफ्तार किया गया है।’ नोएडा पुलिस ने डीजीपी मुख्यालय को घटना पर अपनी रिपोर्ट भेजी है।

आरोपी दारोगा को जेल भेजा
नोएडा के डीआईजी लव कुमार ने कहा, कि यह कोई एनकाउंटर नहीं था। आरोपी दरोगा की पहचान घायल शख्स के भाई ने की है। शायद पीड़ित को भी आरोपी दारोगा जानता था। चार पुलिस वालों को सस्पेंड कर दिया गया है। आरोपी एसआई की पिस्तौल कब्जे में लेकर उसे भी जेल भेज दिया गया है।’

क्या है मामला?
नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे जितेंद्र यादव उर्फ डम्बर की शनिवार को सेक्टर- 122 स्थिति सीएनजी पर कहासुनी के बाद विजयदर्शन नाम के दरोगा ने गोली मार दी। पीड़ित परिवार का आरोप है, कि शनिवार रात करीब 10 बजे जब बहरामपुर से बहन की सगाई कर लौट रहे थे तभी नशे में धुत विजयदर्शन नाम दारोगा ने फर्जी एनकाउंटर की कोशिश की। आरोप ये भी है कि पुलिस ने जीतेन्द्र के बाकी साथियों को भी गायब कर दिया है।

जितेंद्र जिम चलाता है
बताया जाता है कि जितेंद्र यादव सेक्टर- 122 स्थिति पार्थला गांव में जिम चलाता है। उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड भी नहीं है। परिवार वालों का कहना है कि गोली गले में लगी है जो रीढ़ की हड्डी में अटक गई है। घटना के वक्त जिम वाले दोस्त उसके साथ थे।

ये कहा डीआईजी ने
वहीं, मौके पर पहुंचे एसएसपी लव कुमार मामले की निष्पक्ष जांच की बात कह रहे हैं। उन्होंने परिवार वालों से तहरीर ली है। साथ ही इस पूरे मामले की जांच और आरोपियों को ना बख्शने की भी बात कही है।