योगी की योगमाया का ऐसा कमाल, बन गए स्टाइल आईकॉन, युवाओं में है भगवा की डिमांड

आगर: जब से यूपी में योगी सरकार आई है। गेरुआ रंग से पूरा प्रदेश रंग गया है। कहने का मतलब कि गेरुआ रंग का कुर्ता, गले में राम नाम का दुपट्टा आजकल का फैशन ट्रेंड है। भाजपाईयों का यह कलर अब युवाओं की पहली पसंद बनता जा रहा है।

बहुत पुरानी कहावत है जो दिखता है वो बिकता है….ये कहावत आजकल यूपी में चरितार्थ हो रही है। जिस तरह से पीएम बनने के बाद मोदी कट कुर्तों डिमांड थी। उसी तरह अब यूपी सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ के कुर्ते की मांग बढ़ी है।

आगे….

प्रदेश के संघ कार्यालयों में अब योगी कट गेरुआ कुर्ते की डिमांड बढ़ गई है। दीन दयाल धाम फराह  में तो रात दिन योगी कट के कुर्ते तैयार किए जा रहे हैं।  अभी तक गेरुआ रंग के कुर्ते संत महात्माओं की पहचान थे, लिहाजा उनकी इतनी डिमांड नहीं थी।  पहले दीनदयाल धाम के सिलाई केंद्र पर भी सालभर में मुश्किल से 400 से 500 कुर्ते  तैयार किए जाते थे। उस वक्त सफ़ेद क्रीम और ग्रे  रंग के  कुर्तों की डिमांड सबसे ज्यादा रहती थी।  लेकिन  प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही गेरुआ रंग की मांग बढ़  गई है। यहां के संघ के कार्यालयों में लगातार इसकी डिमांड है और इन कुर्तो की बिक्री बड़े पैमाने पर की जा रही है। सिलाई केंद्र के प्रमुख राधेश्याम ने बताया कि जिस तरह से इन कुर्तों की डिमांड बढ़ रही है उसी तरह से सिलाई करने वालों की संख्या बढ़ा  दी गई है।

आगे….

इस संस्थान के प्रभारी ने बताया कि पहले 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद मोदी कट कुर्तों की मांग बढ़ी थी, लेकिन आजकल युवाओं में  सिर्फ योगी कट गेरुआ रंग के कुर्तों की डिमांड सबसे ज्यादा आ रही है। वही आजकल युवा योगी के गेरुया रंग में रंगना चाहते हैं। बहरहाल कुछ भी हो पाश्चात्य फैशन में डूबा युवा अब स्वदेशी कुर्तो की और रुख कर रहा है।​