कुंभ : नित्यानंद को मेला प्रशासन ने जमीन व सुविधाएं देने से किया इंकार

विवादित संत स्वामी नित्यांद को लेकर कुंभ में विवाद पैदा हो गया है। संत पर लगे अपराधिक मुकदमे की वजह से कुंभ मेला प्रशासन ने उन्हें जमीन व सुविधाएं देने से इंकार किया है। आपको बता दें, नित्यानंद महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर हैं। वहीं अखाड़े की पेशवाई में न आने के बाद भी विवादित राधे मां को मेला प्रशासन ने कुंभ मेला क्षेत्र के महामंडलेश्वर नगर में भूमि दी है।

Published by Rishi Published: January 2, 2019 | 11:28 am
Modified: January 7, 2019 | 4:31 pm

लखनऊ : विवादित संत स्वामी नित्यांद को लेकर कुंभ में विवाद पैदा हो गया है। संत पर लगे अपराधिक मुकदमे की वजह से कुंभ मेला प्रशासन ने उन्हें जमीन व सुविधाएं देने से इंकार किया है। आपको बता दें, नित्यानंद महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर हैं। वहीं अखाड़े की पेशवाई में न आने के बाद भी विवादित राधे मां को मेला प्रशासन ने कुंभ मेला क्षेत्र के महामंडलेश्वर नगर में भूमि दी है।

ये भी देखें : कुंभ में 217 शटल बसों का होगा संचालन, फ्री में पहुचेंगे प्रयागराज

अखाड़ा परिषद ने प्रशासन के इस निर्णय पर अपनी नाराजगी जताई है। अब अखाड़ा दुविधा में है कि स्वामी को बुलाया जाए या नहीं।

गौरतलब है कि वर्ष 2013 में आयोजित हुए कुंभ में महामंडलेश्वर बनने वाले नित्यानंद को जमीन व सुविधाएं मिली हुई थीं। लेकिन इस बार कुंभ मेला प्रशासन ने उन्हें दागी मानते हुए कोई भी सुविधा देने से इंकार कर दिया है।

ये भी देखें : व्यापारियों ने कुंभ के लिए और साढ़े 25 लाख की दान की दवाएं

महानिर्वाणी पंचायती अखाड़े के सचिव स्वामी जमुना गिरि ने कहा, मेला प्रशासन फर्जी बाबाओं को कुंभ में आने दे रहा है, उन्हें सारी सुविधाएं दी रही हैं तो नित्यानंद पर ही रोक क्यों लगाई जा रही है।

क्या है नित्यानंद से जुड़ा विवाद 

नित्यानंद दो बार जेल यात्रा कर चुका है। आश्रम में 2010 में शिष्या के साथ दुष्कर्म के मामले में पुलिस चार्जशीट भी लगा चुकी है।