×

PM मोदी के कार्यक्रम में शाम‍िल होना है, तो 'आधार' के बिना नहीं मिलेगी एंट्री

aman

amanBy aman

Published on 10 Oct 2017 5:13 AM GMT

PM मोदी के कार्यक्रम में शाम‍िल होना है, तो आधार के बिना नहीं मिलेगी एंट्री
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पटना: देश में किसी भी सरकारी काम के लिए 'आधार' को लिंक करना अनिवार्य बनाया गया है। लेकिन यदि इसका इस्तेमाल किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अनिवार्य किया जाए तो थोड़ा आश्चर्य होता है। तो जान लें, अगर आप पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होना चाहते हैं, तो आपको अपना आधार कार्ड दिखाना होगा।

पटना यूनिवर्सिटी के पोस्टग्रेजुएट छात्रों और रिसर्च स्कॉलर्स जो भी पीएम मोदी के कार्यक्रम में शामिल होना चाहते हैं उनके लिए 'आधार' अनिवार्य कर दिया गया है। बता दें, कि इससे पहले बिहार में यह कदम इंदिरा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (आईजीआईएमएस) की तरफ से मरीजों की भर्ती के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य किया गया था। टेलीग्राफ की खबर के मुताबिक, शनिवार को पटना यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें पीएम मोदी शिरकत करेंगे।

ये भी पढ़ें ...दोस्ताना के बाद पहली बार पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार के मिलेंगे सुर

ये बताया वीसी ने

पटना यूनिवर्सिटी की वीसी डॉली सिन्हा की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए छात्रों की संख्या सीमित की जाए। इस कार्यक्रम में केवल पोस्ट ग्रेजुएट छात्र और रिसर्च स्कॉलर्स को ही आने की अनुमति होगी। साथ ही इनके लिए आधार कार्ड दिखाना अनिवार्य होगा।

ये भी पढ़ें ...कांगेस के गढ़ में शाह मारेंगे सेंध, आज अमेठी को देंगे विकास की सौगात

खलल पैदा करने का डर

विश्वविद्यालय सूत्रों की मानें, तो जो भी पोस्ट ग्रेजुएट छात्र और रिसर्च स्कॉलर्स छात्र संगठन से जुड़े होंगे उन्हें कार्यक्रम में एंट्री नहीं दी जाएगी। क्योंकि यूनिवर्सिटी को संदेह है कि वे किसी प्रकार की परेशानी खड़ी कर सकते हैं। इनके अलावा अंडरग्रेजुएट छात्रों में केवल उन्हीं को कार्यक्रम में शामिल होने दिया जाएगा जो नेशनल कैडट कॉर्पस और नेशनल सर्विस स्कीम से जुड़े होंगे। इसके अलावा जिनके लिए विश्वविद्यालय के विभाग की तरफ से सिफारिश की जाएगी।

ये भी पढ़ें ...शाह के बेटे की संपत्ति पर खबर लिखने वाली वेबसाइट पर मानहानि का केस दर्ज

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story