×

शाह का डबल पॉलिटिकल अटैक: बबुआ के बाद अब बुआ को झटका, MLC जयवीर का इस्तीफा

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रेसिडेंट अमित शाह शनिवार (29 जुलाई) को अपने तीन दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंचे।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 29 July 2017 7:28 AM GMT

शाह का डबल पॉलिटिकल अटैक: बबुआ के बाद अब बुआ को झटका, MLC जयवीर का इस्तीफा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रेसिडेंट अमित शाह शनिवार (29 जुलाई) को अपने तीन दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंचे। उनके लखनऊ पहुंचते ही समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में सियासी घमासान मच गया। पहले सपा के 2 एमएलसी (बुक्कल नवाब, और यशवंत सिंह) ने विधान परिषद से इस्तीफा दिया। इसके थोड़ी ही देर बाद बसपा को भी तगड़ा झटका लगा। एमएलसी ठाकुर जयवीर सिंह ने विधान परिषद की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। सूत्रों की माने तो ये सभी एमएलसी बीजेपी का दमन थाम सकते हैं। माना जा रहा कि इस्तीफे की इस बाढ़ अभी कई और नाम शामिल हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें .... पॉलिटिकल सर्जिकल स्ट्राइक: UP में भी ‘शाह’ इफेक्ट, पहले ही दिन गिरे सपा के 3 दिग्गज विकेट

गौरतलब है कि दो दिन पहले ही बिहार में राजनीतिक समीकरण बदले। जेडीयू ने आरजेडी से नाता तोड़ बीजेपी का हाथ थाम लिया। बीजेपी ने नीतीश कुमार के साथ मिलकर बिहार में सत्तारूढ़ दल के रूप में जगह बनाई। वहीँ गुजरात में भी कांग्रेस के 6 विधायकों ने कांग्रेस का हाथ छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया।

यह भी पढ़ें .... BJP अध्यक्ष अमित शाह पहुंचे लखनऊ, इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में हुई बैठक

क्या बोले ठाकुर जयवीर सिंह ?

बसपा अपना जनाधार खो चुकी है। बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर की सोच से भटक चुकी है। जाति-धर्म और मजहब के आधार पर लोगों को बांटकर प्रदेश का विकास नहीं किया जा सकता है। देश को विश्व पटल पर लोकप्रिय बनाने का काम पीएम मोदी ने किया है उनकी सोच, संघर्ष, दूरदृष्टि, त्याग और तपस्या इस देश को विकास के रास्ते पर ले जाएगी।

आज की राजनीति के चाणक्य अमित शाह बहुत ही निष्ठा और ईमानदारी साथ के देश के विकास के लिए संघर्ष कर रहे हैं। सीएम योगी ईमानदारी और त्याग की मूर्ति हैं।

सबका साथ सबका विकास ही पीएम और सीएम की सोच है। जयवीर सिंह ने कहा कि मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ कल भी था, आज भी हूं और आगे भी रहूंगा।

यह भी पढ़ें ... शिवपाल की सलाह, अखिलेश अभी भी मुलायम को सौंप दें पार्टी तो बेहतर..वर्ना

क्या बोले स्वामी प्रसाद मौर्य ?

जयवीर सिंह जनाधार वाले नेता है। ऐसे मजबूत नेता के हटने के बाद मायावती की बची ताकत आज खत्म हो गई है। जयवीर जैसे मजबूत नेता के हटने के बाद अब बसपा में कुछ भी नही बचा है। जयवीर के बीजेपी ज्वाइन करने पर स्वामी ने कहा कि जयवीर सिंह खुद इसका निर्णय लेंगे। मौर्य ने कहा कि मायावती आज बसपा के खत्म होने की खुद जिम्मेदार हैं। उन्होंने लोकतंत्र का सौदा कर लिया। मायावती खुद बाबा साहेब और कांशीराम के विचारों की हत्या करने पर आमादा है।

मायावती ने हाल ही में राज्यसभा से इस्तीफा देकर नाटक कर दलितों और पिछड़ों की आंख में धूल झोंकने की कोशिश की है। जयवीर सिंह के इस्तीफे से मायावती के पैसे की हवस या तो खत्म होगी या तो वह अपना बोरिया बिस्तर बांधकर कहीं चली जाएंगी।

बसपा के बचे नेता भी जल्द ही पार्टी छोड़ेंगे। कोई पहले छोड़ेगा कोई बाद में बसपा के कद्दावर नेता और विधायक हमारे संपर्क में हैं। किसको लेना है और किसको नही आवश्यकता अनुसार यह फैसला लेंगे।

स्वामी प्रसाद ने कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी भी मायावती के पैसे के हवस की बीमारी के सबसे बड़े जीवाणु थे। ठीक है देर से आए, लेकिन दुरुस्त आए।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story