×

हिंदू कोर्ट की पूजा शकुन बोली- गोडसे से पहले पैदा होती तो गांधी को मैं मारती

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 23 Aug 2018 3:24 PM GMT

हिंदू कोर्ट की पूजा शकुन बोली- गोडसे से पहले पैदा होती तो गांधी को मैं मारती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ : यूपी के के मेरठ में हाल ही में गठित हुई पहली हिंदू कोर्ट की जज डॉ. पूजा शकुन पांडे विवादित बयान दे दिया है। पूजा ने कहा, उन्हें गर्व है कि वो और उनका संगठन अखिल भारत हिंदू महासभा नाथू राम गोडसे को पूजता है।

एक निजी न्यूज़ चैनल से पूजा ने कहा, मुझे गर्व है कि हम नाथू राम गोडसे को पूजते हैं। वो गांधी के हत्यारे नहीं थे। उन्हें भारतीय संविधान लागू होने से पहले सजा दे दी गई थी।

पूजा ने कहा, मैं गर्व से कहती हूं कि अगर नाथू राम गोडसे से पहले मैं पैदा होती तो मैं ही गांधी को मार देती। यह भी सुन लीजिए, अगर आज भी कोई गांधी पैदा होगा जो देश बांटने की बात करेगा तो नाथू राम गोडसे भी इसी पुण्य भूमि पर पैदा होगा।

शरिया अदालत की तर्ज पर हिंदू अदालत

अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने हिंदू धर्म को खतरे में बताते हुए मेरठ में शरिया कोर्ट की तर्ज पर भारत की पहली ‘हिंदू अदालत’ स्थापित करते हुए पहली न्यायाधीश एक महिला को नामित करने का एलान किया गया है। 15 नवंबर को नाथूराम गोडसे के फांसी के दिन अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, फिरोजाबाद और शिकोहाबाद में हिंदू अदालत की स्थापना कर दी जाएगी। जल्द 15 अदालतें स्थापित करने का लक्ष्य है।

मेरठ में अखिल भारतीय हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक शर्मा ने हिंदू अदालत की स्थापना की जानकारी दी। अलीगढ़ निवासी डॉक्टर पूजा शकुन पांडे को हिंदू अदालत की पहली हिंदू जज भी घोषित कर दिया गया है। पूजा शकुन पांडे 2 अक्टूबर को इस अदालत का बायलॉज भी पेश कर देंगी।

हिंदू महासभा का कहना है कि हिंदू अदालत का लाभ परेशान लोगों को मिलेगा। जमीन, मकान, दुकान, विवाह, पारिवारिक विवाद आदि मामले आपसी सहमति से सुलझाए जाएंगे। अशोक शर्मा का कहना है कि पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की तरफ से की गई उपेक्षा की वजह से भी अदालत गठित करनी पड़ी है। महासभा ने कहा कि पीएम और सीएम को पत्र लिखकर कहा गया था कि भारत में एक ही संविधान माना जा सकता है। देश में खुली और खुलने वाली शरई अदालतों को तत्काल बंद कराया जाए नहीं तो हिंदू महासभा हिंदू अदालत 15 अगस्त को खोल देगी। महासभा का कहना है कि पत्र का जवाब नहीं आने पर अब अदालत की स्थापना का ऐलान कर दिया गया।

हिंदू अदालत की पहली न्यायाधीश के नाम पर नामित डॉक्टर पूजा शकुन पांडे का कहना है कि उन्हें यह पद हासिल होने पर गर्व है। उन्होंने बताया कि उन्होंने हिंदुओं की राजनीति की है और वह पीएचडी भी हैं। शकुन ने कहा कि वह कानून जानती हैं और इस अदालत में हर जरूरतमंद को इंसाफ दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनकी अदालत को उसी तरह किसी की मान्यता की जरूरत नहीं है जिस तरीके से बिना मान्यता के खुद के कानून पर शरिया अदालतें चल रही हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story