×

मोदी की हिमाचल में चुनावी हुंकार- पूरा कांग्रेस नेतृत्व 'जमानत पर'

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 3 Oct 2017 12:02 PM GMT

मोदी की हिमाचल में चुनावी हुंकार- पूरा कांग्रेस नेतृत्व जमानत पर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बिलासपुर : हिमाचल प्रदेश में अघोषित रूप से विधानसभा चुनाव प्रचार की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत पूरी कांग्रेस पार्टी को भ्रष्टाचार के आरोप में 'जमानत पर बाहर' बताया और वीरभद्र सिंह मंत्रिमंडल को भ्रष्टाचार के आरोप में 'जमानत पर बाहर सरकार' कहा।

ये भी देखें: मोदी में उन्हें नजर आता है ‘निर्वाचित आतंकवादी’, अपने गिरेबान में तो झांको

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में 1350 करोड़ रुपये की लागत वाले 750 बिस्तरों के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की आधारशिला रखने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "यहां सबकुछ जमानत पर है। पार्टी (कांग्रेस) जमानत पर है, सरकार जमानत पर है।"

मोदी ने वीरभद्र सिंह पर निशाना साधते हुए कहा, "यह एक जमानती सरकार है। जब कांग्रेस के कुछ लोग मुझसे मिलने आते हैं, मैं उनसे कहता हूं कि मुख्यमंत्री और उनका पूरा परिवार जमानत पर रिहा है और आप क्यों नहीं अपना मुख्यमंत्री बदलते हैं। इसपर कांग्रेस के लोग कहते हैं कि हमारी पूरी पार्टी जमानत पर है और हमारी (कांग्रेस) अध्यक्ष भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रही हैं।"

ये भी देखें: #NobelPrize 2017 : फिजिक्‍स के लिए इस तिकड़ी को मिलेगा अवाॅर्ड

वीरभद्र सिंह आय से अधिक संपत्ति मामले का सामना कर रहे हैं और इस समय वह जमानत पर बाहर हैं।

कांग्रेस नेतृत्व पर चुटकी लेते हुए मोदी ने कहा, "सोनिया गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं, उसी तरह युवराज भी इस मामले में जमानत पर हैं। सब कुछ जमानत पर है- पार्टी, इसके नेता और इसकी सरकार जमानत पर हैं।"

उन्होंने लोगों से पूछा, "अब मुझे बताओ, क्या जमानत पर बाहर सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत नहीं है।"

कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के कार्यकाल के दौरान हुए भ्रष्टाचार के बारे में उन्होंने कहा, "2014 के पहले सभी अखबार भ्रष्टाचार की खबरों से भरे होते थे, लेकिन इन तीन वर्षो में हमारी सरकार पर भ्रष्टाचार के कोई दाग नहीं लगे हैं।"

ये भी देखें: 02 अक्टूबर तक शौचालयों के निर्माण में TOP पर उत्तर प्रदेश

उन्होंने कहा, "पहले लोग यह पूछा करते थे कि कोयला, टूजी, भूमि, पानी, हवा आदि घोटाले में कितने रुपये गंवाए। लेकिन अब लोग पूछते हैं कि कितने रुपये भारत में आए।"

उन्होंने पूर्ववर्ती हिमाचल और केंद्र सरकार पर राज्य में परियोजनाओं में देरी को लेकर आलोचना करते हुए कहा, "गत सात वर्षो में 70 करोड़ रुपये की इस्पात संयंत्र परियोजना में देरी की गई।"

मोदी ने कहा, "अगर किसी को यह समझना है कि सरकार कैसे चलती है तो उसे जरूर कांगड़ा इस्पात संयंत्र जाना चाहिए। यहां एक विभाग दूसरे विभाग को 'बक' आगे बढ़ाते हैं और उसके बाद दूसरे विभाग इसी तरह इसे आगे बढ़ाते हैं। सभी विभाग के पास अपना प्रधानमंत्री होता है।"

ये भी देखें: बेटी पैदा होने पर पति ने दी तलाक की धमकी, बोला- मोदी-योगी क्या कर लेंगे?

उन्होंने पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले सरकारें कैसे काम करती थीं? एक सरकार रिमोट कंट्रोल के द्वारा चलती थी।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य में 15,000 करोड़ रुपये की 13 परियोजनाओं को मंजूरी दी है, जो न सिर्फ राज्य में रोजगार उत्पन्न करेंगी, बल्कि राज्य में पर्यटन क्षेत्र को भी ताकत प्रदान करेंगी।

मोदी ने कहा, "हमने मंडी रैली में घोषणा की थी कि हम वन रैंक, वन पैंशन लागू करेंगे। हमने इसके लिए तीन किश्तों में पैसे जारी किए हैं। अबतक 8,500 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं और चौथी किश्त भी जल्दी ही जारी की जाएगी।"

मोदी ने कहा, "राज्य में सत्ता में आने के बाद भाजपा हिमाचल वासियों के सपने पूरे करेगी।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story