×

डोकलाम विवाद के बाद पहली बार मिले चीन के रक्षा मंत्री और मोदी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 21 Aug 2018 4:42 PM GMT

डोकलाम विवाद के बाद पहली बार मिले चीन के रक्षा मंत्री और मोदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां मंगलवार को कहा कि भारत और चीन अपने मतभेदों को संवेदनशीलता और परिपक्वता के साथ मिटा सकते हैं, ताकि ये मतभेद विवाद का रूप न ले सकें। प्रधानमंत्री ने यह विचार ऐसे समय में व्यक्त किया, जब चीनी रक्षामंत्री जनरल वेई फेंगे ने मोदी से यहां मुलाकात की।

पीएमओ की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, "प्रधानमंत्री ने भारत-चीन संबंधों को दुनिया में स्थिरता का एक कारक करार देते हुए कहा कि सीमांत इलाकों में शांति एवं सद्भाव बनाए रखना, उस संवेदनशीलता और परिपक्वता का संकेत है, जिसके जरिए भारत और चीन अपने मतभेदों को मिटा सकते हैं, ताकि वे विवाद का रूप अख्तियार न कर पाएं।"

मोदी ने भारत और चीन के बीच सभी क्षेत्रों में उच्चस्तरीय संपर्को में आई गतिशीलता की भी सराहना की। इन क्षेत्रों में रक्षा और सैन्य आदान-प्रदान शामिल हैं।

बयान में कहा गया है, "प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ वुहान, किंगदाओ और जोहानिसबर्ग में हाल में हुई बैठकों को भी याद किया।"

उल्लेखनीय है कि भारत और चीन के सैनिक सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में पिछले वर्ष 16 जून से 28 अगस्त के बीच आमने-सामने बने रहे थे। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने क्षेत्र में एक सड़क बनाने की कोशिश की थी।

अंतत: यह गतिरोध कूटनीतिक प्रयासों के जरिए सुलझाया जा सका था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story