×

संघ का तीन दिवसीय कार्यक्रम: 3,000 हस्तियां करेंगी शिरकत, राहुल, अखिलेश और माया को भी न्यौता

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 8 Sep 2018 9:19 AM GMT

संघ का तीन दिवसीय कार्यक्रम: 3,000 हस्तियां करेंगी शिरकत, राहुल, अखिलेश और माया को भी न्यौता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: आरएसएस ने अपने तीन दिवसीय कार्यक्रम के लिए देश भर से सामाजिक, धार्मिक समूहों, अल्पसंख्यक नेताओं, राजनीतिक विचारधाराओं समेत करीब 3,000 हस्तियों की एक लिस्ट तैयार की है। उन्हें कार्यक्रम में आमंत्रित करने के लिए न्योता भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि 17 से 19 सितंबर को आयोजित कार्यक्रम में रिटायर्ड नौकरशाह भी शामिल होंगे। आरएसएस चीफ इन सभी लोगों से संवाद करेंगे।

राहुल और अखिलेश समेत इन वीवीआईपी को भेजा गया न्योता

आरएसएस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ 'भविष्य का भारत: संघ की दृष्टि' कार्यक्रम में कांग्रेस चीफ राहुल गांधी और पार्टी के लोकसभा में लीडर मल्लिकार्जुन खड़गे को आमंत्रित किया गया है। यही नहीं अखिलेश यादव, मायावती, ममता बनर्जी और चंद्रबाबू नायडू समेत तमाम क्षेत्रीय क्षत्रपों को भी बुलावा भेजा गया है। संघ को ऐसी उम्मीद है कि तीन दिवसीय कार्यक्रम में हर दिन 800 से 1000 लोगों तक की उपस्थिति होगी।

ज्यादा लोगों को अपनी विचारधारा से परिचित कराना मकसद

प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ आरएसएस ने गेस्ट को न्योता भेजने के लिए उन लोगों की सूची तैयार की है, जो पहले भी संघ के किसी कार्यक्रम का हिस्सा रह चुके हैं। इसके पीछे संघ का ये कहना है कि उसने इस कार्यक्रम का आयोजन इसलिए किया है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपनी विचारधारा से परिचित कराया जा सके। संघ से जुड़े एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'हम आमंत्रित लोगों की पहचान उजागर नहीं कर रहे हैं ताकि किसी के कार्यक्रम में न आने पर उन्हें लेकर कोई विवाद न हो सके। अब तक मिले फीडबैक के मुताबिक संघ प्रमुख के कार्यक्रम में ज्यादातर आमंत्रित लोगों ने उपस्थित रहने की बात कही है।'

हिन्दू ही नहीं अन्य धर्मों के लोगों को भी बुलाया

संघ की तरफ से विज्ञान भवन में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर आरएसएस से जुड़े एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'हम अलग-अलग धर्मों के लोगों को बुलाने जा रहे हैं। हम किसी को भी अलग नहीं रखना चाहते। इन लेक्चर्स के जरिए संघ को लेकर बने तमाम मिथकों को तोड़ा जा सकेगा।' कार्यक्रम की तैयारियों में जुटे सूत्रों ने बताया कि भागवत इस आयोजन में हिंदुत्व, संघ के कामकाज और समकालीन मुद्दों पर अपनी राय रखेंगे।

संघ प्रमुख इन मुद्दों पर करेंगे बात

आरएसएस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि संघ प्रमुख अपने भाषण में यह विषय रखेंगे कि हिंदुत्व इस देश को कैसे एक रख सकता है। इसके अलावा राष्ट्रवाद, महिला सशक्तिकरण, जाति, जम्मू-कश्मीर और नैशनल रजिस्टर फॉर सिटिजंस जैसे मुद्दों पर भी वह अपनी बात रखेंगे।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story