Lifestyle

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों को घर में रहने की सलाह दी रही है। इस वायरस के संक्रमित होने का सबसे ज्यादा रिश्क तब होता है जब आप घर से बाहर निकलते हैं।

आज 1 अप्रैल है।मूर्ख दिवस। लेकिन कोरोना वायरस के चलते इसे  नहीं मनाया जा रहा है। एक अप्रैल को ये गाना सभी की जुबान पर रहता है 'अप्रैल फूल बनाया तो उसको गुस्सा आया, इसमें मेरा क्या कसूर जमाने की है भूल जिसने दस्तूर बनाया '  april fool यानि 1 अप्रैल।

चीन के वुहान से निकले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले लिया है। अब तक तकरीबन 6 लाख लोग इस वायरस का शिकार बन चुके हैं। इसके लक्षण को लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस के लक्षण सामान्य सर्दी-जुकाम से इतने मिलते-जुलते हैं कि इसके रोगियों की पहचान करना मुश्किल है...

पहले वर्क फॉर्म होम का चलन कम था, इक्का-दुक्का कंपनियां ही वर्क फॉर होम करवाती थी । लेकिन जब से कोरोना का प्रकोप आया और लॉकडाउन होकर  लोग घरों में कैद हुए तो कंपनियों ने अपने कर्मचारियों से  वर्क फॉर्म होम करवाना शुरु कर दिया है। वैसे सुनने में त अच्छा लगता है

दुनियाभर में  कोरोना से लाखों लोग संक्रमित हो चुके हैं मौत का आंकड़ा  21 000 के पार हो चुका हैं। भारत में भी खतरे का यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में एहतियात बरतते हुए सरकार ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया है। और अब  ज्यादातक संस्थान की ओर से 'वर्क फ्रॉम होम'

लोगों को घरों से न निकलना पड़े लेकिन जरुरी चीजों की जरूरत भी पूरी हो सके, इसलिए लिए सरकार डोर-टू-डोर सेवा दे रही है। अब आपके घर तक दवाएं भी सरकार भिजवाएंगी।

  पूरी दुनिया में 3,50,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। भारत में भी कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या बढ़कर 500 से ज्यादा हो चुकी है। इस जानलेवा वायरस के डर से स्कूल, कॉलेज, दफ्तर सब बंद हो चुके हैं।

अमेरिका ने एक प्रयोग किया है। अमरीका के डॉक्टर्स ने कोरोना वायरस से पीड़ित कुछ मरीजों को विटामिन सी की भारी मात्रा में खुराक दी। हैरान करने वाली बात ये हैं कि इसके परिणाम भी सकारात्मक आये हैं

कोरोना वायरस ने लोगों की जिंदगी को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है। लॉकडाउन और सेल्फ क्वारनटीन का असर लोगों की डेटिंग और लव लाइफ पर भी खूब पड़ा रहा है. लव बर्ड्स ना तो मिल पा रहे हैं और ना ही एक दूसरे को प्रपोज कर पा रहे हैं। लेकिन यह भी सच है कि प्यार करने वालों को जंजीरो में ज्यादा दिन कैद करके नहीं रखा सकता। वो एक दूसरे तक पहुंचने का कोई ना कोई रास्ता खोज ही लेते हैं।

21 दिनों के लाॅकडाउन से परेशान होने की जरुरत नहीं है, सरकार इस बात का प्रबंध करने जा रही है कि आपके एक फोन पर खाने का सामान घर तक आ जाएँ।