Lifestyle

नाखूनों की फिनिशिंग के लिए अंत में पूरे नाखून पर ट्रांस्पेरेंट नेलपॉलिश का सिर्फ एक कोट लगाएं। इससे आपके नाखून ग्लॉसी दिखते हैं। फ्रेंच मेनीक्योर इस आधार पर रेगुलर मेनीक्योर से अलग है कि इसमें नेल पेन्ट लगाने का अलग तरीका अपनाया जाता है। नेल बेस पर क्लीयर या शीअर पिंक नेल पॉलिश लगाई जाती है, जिसके बाद नाखूनों के सिरों पर सफेद नेल पेन्ट लगाया जाता है।

आज के समय में लड़के और लड़कियों की दोस्ती होना आम बात है, लेकिन इस दोस्ती में कुछ ऐसी बाते हैं जो लड़कियां लड़कों से कहने में शर्माती हैं और लड़कों से खुल कर बात नहीं करती हैं। अगर किसी लड़की को किसी से प्यार हो जाए, तो वो आसानी से अपने प्यार का इजहार नहीं करती हैं।

अगर आप मोबाइल का इस्तेमाल बहुत ज्यादा कर रहे है तो सावधान हो जाये और अपनी इस आदत में सुधार कर ले। मोबाइल से होने वाले रेडियशन के खतरे तो हमे पता चल ही रहे है लेकिन अब खतरा हमारी शारीरिक संरचना को लेकर है।

आप जरुर नोटिस करेंगे कि कमरे के अंदर का माहौल काफी रिलैक्‍सिंग हो चुका होगा। यह एक पावरफुल स्‍पा एक्‍सपीरियंस जैसा लगेगा। इसके बाद आप खुद पाएंगे कि आपके अंदर एक अलग सी एनर्जी आ चुकी होगी और अब आपका तनाव गायब हो चुका होगा।

बारिश होने से गर्मी कम लगती है, लेकिन साथ ही मच्छरों का प्रकोप बढ़ जाता हैं। बारिश के दिनों में पानी ठहरने की वजह से मच्छरों की संख्या बढ़ने लगती हैं और बीमारियों का खतरा बढ़ता जाता हैं। ऐसे में जरूरी हैं कुछ ऐसे उपायों को अपनाया जो  बारिश के दिनों में मच्छरों से बचा सकते है

 कौटिल्य के बारे में यह कहा जाता है कि वह बड़ा ही स्वाभिमानी एवं क्रोधी स्वभाव का व्यक्ति था। एक किंवदंती के अनुसार एक बार मगध के राजा महानंद ने श्राद्ध के अवसर पर कौटिल्य को अपमानित किया था।

हमारे देश में आज हर औरत घर के बाहर ही नहीं बल्कि घर के अंदर भी खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और फेमिनिज्म जैसे शब्द केवल सुनने में ही अच्छे लगते हैं क्योंकि महिलाओं के ऊपर बढ़ रहे अत्याचार और अपराधियों ने इन शब्दों को पूरी तरह से खोखला कर दिया है।

उत्तर भारत में बारिश का मौसम दस्तक देने वाला है। अगर आपको भी इस बार मॉनसून का असली मजा लेना है, तो तैयार हो जाइए क्योंकि हम आपको कुछ ऐसी शानदार जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां बारिश में आपका मजा दोगुना हो जाएगा।

अमेरिका की सिराक्यूज यूनिवर्सिटी ने ताजा शोध में मजेदार खुलासा किया है। जिसके मुताबिक अगर आप दफ्तर में कम छुट्टियां लेते हैं तो आपको मेटाबॉलिक सिंड्रोम का खतरा अधिक है।

 जब हील पहन कर आप बैठे हैं तो अपनी सैंडल को थोड़ा ढीला कर लें. चाहे तो सैंडल खोलकर पैर फर्श पर रख लें. इससे आपको आराम मिलेगा। हील पहन कर ड्राइव न करें. बल्कि एक स्पेयर फ्लेट चप्पल या जूती रखें जिसे पहनकर आप ड्राइव कर सकें।