अगर ठंड में गर्म पानी से नहाते हैं तो जानिए ये सही है या गलत

Published by suman Published: October 30, 2017 | 2:15 pm

जयपुर: सर्दी के मौसम में ठंड से बचने के लिए ज्यादातर लोग गर्म पानी से से नहाते हैं। लेकिन क्नया आप जानते है कि डॉक्टर कहते हैं कि  गर्म पानी से नहाना ड्राइनेस, खारिश, सोराइस‌िस और स्केबीज जैसे स्किन रोगों के कारणों में से एक है।
स्किन स्पेशलिस्ट के अनुसार, सर्दी के मौसम में हल्के गुनगुने पानी से नहाना चाहिए, ताकि शरीर की नमी बरकरार रहे। ज्यादा गर्म पानी के उपयोग से स्किन की नमी खत्म हो जाती है। इससे ड्राइनेस धीरे-धीरे बढ़ने लगती है और वह खारिश का रूप ले लेती है।

यह भी पढ़ें…सर्दी में ऐसे करेंगे इनकी देखभाल तो गर्म कपड़े हरदम दिखेंगे नए जैसे

*सर्दी के मौसम में नहाने से पहले या बाद में नारियल और जैतून का तेल लगाना स्किन के लिए लाभदायक होता है। इसके अलावा नारियल के तेल में कपूर डालकर भीगे शरीर पर लगाना भी स्किन के लिए फायदेमंद हो सकता है।

* यह बीमारी पैरासाइट से फैलता है और यह दूसरे को भी फैल सकती है। जिले के स्किन डिस्पेंसरी में रोजाना ऐसे 20-25 मरीज पहुंचते हैं। इस बीमारी के मुख्य कारण रोजाना नहीं नहाना, ओवर क्राउडिंग एरिया में रहना, एक कमरे में चार से पांच लोगों का रहना, सर्दी में एक कपड़ा कई दिनों तक पहनना आदि हैं।

*सोराइस‌िस के लक्षणों में शरीर पर लाल चकाते बनना व सर्दी के मौसम में इन चकातों पर सिल्वर रंग का स्केल बना जाता है, जिससे खुजली होती है। अंगुलियों के बीच दाने होना, शरीर के अंदरूनी भागों में दाने निकलना, ज्यादा खुजली होना ये लक्षण है।यह एक क्रानिकल बीमारी है। इसमें मरीज को बार-बार ट्रीटमेंट लेना पड़ता है। कई लोग तो उम्रभर इसकी चपेट में रहते हैं। सर्दी के मौसम इस बीमारी से पीड़ित मरीजों की तकलीफ बढ़ जाती है।  अन्य सीजन के अपेक्षाकृत सर्दी में यह बीमारी ज्यादा होती है।