बलूच नेता ब्रह्मदाग बुगती ने मांगी भारत में शरण, पाक सैन्य अफसरों पर करेंगे केस

Published by Published: September 20, 2016 | 1:35 am
ब्रह्मदाग बुगती

नई दिल्लीः स्विटजरलैंड में निर्वासित जीवन बिता रहे बलूचिस्तान के नेता ब्रह्मदाग बुगती ने भारत से खुद और अन्य बलूच नेताओं को शरण देने की गुहार लगाई है। साथ ही उन्होंने कहा है कि बलूचिस्तान में जिस तरह से पाकिस्तानी सेना आतंक बरपा रही है, उसके खिलाफ वह इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में पाकिस्तानी सेना के अफसरों और चीन के खिलाफ केस करेंगे।

बुगती ने क्या कहा?
ब्रह्मदाग बुगती ने एक इंटरव्यू में कहा है कि पाकिस्तान के बलूचिस्तान और अफगानिस्तान में उनके समुदाय के लोग परेशान हैं। बलूचिस्तान के लोगों में से कुछ ही यूरोप आ सके हैं। बुगती ने कहा कि वह भारत सरकार से गुजारिश करते हैं कि उन्हें और बाकी सभी को वह शरण दे। उन्होंने कहा कि मुझे यात्रा करने में दिक्कत होती है और अगर स्विटजरलैंड की जगह भारत में रहने को मिले, तो मैं वहां बसना चाहूंगा।

मुकदमा करने का ऐलान
ब्रह्मदाग बुगती ने ये भी कहा कि बलूच रिपब्लिकन पार्टी ने बलूचिस्तान में हिंसा के लिए पाकिस्तानी सेना के अफसरों के खिलाफ केस करने का फैसला किया है। इसके अलावा चीन के खिलाफ भी पार्टी केस करेगी। बता दें कि बलूचिस्तान के ग्वादर में चीन बंदरगाह विकसित कर रहा है। जिसका बलूच नेता विरोध कर रहे हैं। बुगती ने कहा कि इस मसले पर वह भारत, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से मदद मांगेंगे।