ये दिवाली है खास : योगी का जश्न-ए-दीपोत्सव, राम राज्य का आगाज !

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और अयोध्यावासियों के लिए इस बार की दिवाली बेहद खास है। दिवाली मनाने के लिए सीएम योगी बुधवार को को अयोध्या पहुंचे हैं।

ये दिवाली है खास : योगी का जश्न-ए-दीपोत्सव, राम राज्य का आगाज !

ये दिवाली है खास : योगी का जश्न-ए-दीपोत्सव, राम राज्य का आगाज !

फैजाबाद : माना जाता है कि त्रेता युग में 14 साल का वनवास काटकर और लंका विजय कर अयोध्या लौटे भगवान राम का जोरदार स्वागत किया गया था और राम की नगरी को दीपों से सजाया गया था। वहीं बीजेपी की भी यूपी की सत्ता में 14 साल बाद वापसी हुई है। इस लिहाज से भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और अयोध्यावासियों के लिए इस बार की दिवाली बेहद खास है। दिवाली मनाने के लिए सीएम योगी और गवर्नर राम नाइक बुधवार को अयोध्या पहुंचे।

भगवान राम, सीता और लक्ष्मण को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या के रामकथा पार्क पहुंचे। दिवाली के मौके पर भगवाग राम, सीता और लक्ष्मण  हेलीकॉप्टर से अयोध्या पहुंचे। सीएम योगी और राम नाइक ने भगवान श्रीराम और लक्ष्मण को माला पहनाई और आरती की।

बना नया कीर्तिमान
-अयोध्या में इस बार घाट पर तिल के तेल से 1.87 लाख दीप जलाए गए।
-दीपोत्सव कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए।
-इसके साथ ही एक साथ सबसे ज्यादा दीये जलाने का नया रिकॉर्ड गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज हुआ।
-इससे पहले यह रिकॉर्ड (1,50,009 लाख दीये) बाबा गुरमीत राम रहीम के नाम पर दर्ज था।
-यह रिकॉर्ड हरियाणा के सिरसा में 23 सितंबर 2016 को हुए एक प्रोग्राम में दर्ज किया गया था।

श्री राम चंद्र कृपाल भजुमन हरण भव मय दारुणं की स्तुति और जय श्री राम के जय घोष के बीच सीएम योगी, गवर्नर राम नाइक, डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, डिप्टी सीएम केशव मौर्या, यूपी बीजेपी अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय समेत कैबिनेट के मंत्रियों, जनप्रतिनिधियों और संतो ने आरती उतारी। इस दरम्यान हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा हुई।

प्रतीकात्मक तौर पर श्रीराम का राज्याभिषेक किया गया। महंत नृत्य गोपाल दास, अध्यक्ष राम जन्म भूमि अयोध्या, समेत मंच पर मौजूद संतो का सीएम और मंत्रियों ने शाल पहनकर अभिनंदन किया।

सरयू तट पर राम घाट पार्क से सरयू घाट के बीच पड़ने वाले सभी नौ घाटों पर लाइटिंग की गई है। इसके अलावा लेजर शो के अलावा रामलीला का मंचन का कार्यक्रम हुआ। जिसके लिए थाईलैंड और श्रीलंका से भी कलाकार यहां पहुंचे।

यह भी पढ़ें … अयोध्या में लगेगी 108 फीट ऊंची राम प्रतिमा, दीपों से जगमगाएगी धर्म नगरी

इस मौके पर योगी ने अयोध्या के समेकित विकास के लिए स्वदेश दर्शन योजना के तहत अयोध्या को 133 करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास किया। सीएम योगी ने पीएम आवास योजना के तहत 10 लोगों को स्वीकृत पत्र दिया।इसमें 5 लोगों को प्रतीकात्मक स्वीकृत पत्र दिया।

108 लाभार्थियों को नि:शुल्क बिजली कनेक्शन दिया। सीएम योगी ने  निराश्रित, महिलाओं और दिव्यांग बच्चों को वस्त्र, फल वितरित किया।

गौरतलब है कि यूपी की योगी सरकार ने बुधवार छोटी दिवाली (18 अक्टूबर) के मौके पर अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम की घोषणा की थी।

अयोध्या में साकेत महाविद्यालय से लेकर रामकथा पार्क तक सड़क के दोनों तरफ लाल झंडिया और लाइट लगाकर सड़कों को सजाया गया है। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि इस तरह का आयोजन पहली बार हुआ।

क्या बोले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ?
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह नकारात्मकता से सकारात्मकता की ओर जाने का संकेत है। अयोध्या ने दुनिया को मानवता का पाठ पढ़ाया। जो मानवता का रास्ता मजबूत करता हो इस अयोध्या ने दुनिया को वो सबकुछ दिया। अयोध्या ने रामराज्य दिया, जिसमें दुख और दरिद्रता का स्थान ना हो। अयोध्या क्यों उपेक्षित हुआ, क्यों लगातार नकारात्मक चर्चा का विषय बना। हमारा अभियान नकारात्मकता से सकारात्मकता से ले जाने का अभियान है। चार चरणों में ये कार्यक्रम पूरा होना है। अभी पहला चरण है।

देश अपनी आजादी के 70 साल पूरा कर चुका है। पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत को समर्थ और सशक्त भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। ये प्रेरणा देता है कि जीवन तपकर ही बनता है और दीप जलकर ही रोशनी देता है। दिवाली का पर्व देश और दुनिया को अयोध्या ने दिया, लेकिन अयोध्या खुद उपेक्षित हो गई। अयोध्या लगातार प्रहार झेलने को मजबूर हुई।

देश-दुनिया में यूपी पर्यटन का हब बने उसकी शुरुआत अयोध्‍या से होने जा रही है। जिस गरीब के घर में आजादी के 70 साल बाद पीएम मोदी के प्रयास से बिजली आई है उसके लिए वही रामराज्‍य है।

यह भी पढ़ें … आजम बोले- ताज को डायनामाइट से उड़ाना लगभग तय !

अयोध्या के बारे में नकारात्मक चर्चा बंद हो 
सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या के बारे में देश और दुनिया के मन मे क्या है इसका सकारात्मक तस्वीर पेश करने के लिए जरूरी था। यूपी के हर कार्यक्रम को हम लोग एक नई ऊंचाइयां प्रदान करें। लोग अयोध्या के बारे में नकारात्मक चर्चा बंद करें। यह मानवता की धरती है। राम राज्य यही है। जिसके पास घर, रोजगार, बिजली हो उसके लिए वही राम राज्य है।  हम नदियों की आरती क्यों कर रहे हैं। जिसकी पूजा करें उसके जैसा बनें। नदियों को स्वच्छ बनाएं।

नौजवान को नौकरी और रोजगार चाहिए
सीएम योगी ने कहा कि हमारा नौजवान नारा लगा रहा है और तालियां बजा रहा है। यह कब तक चलेगा। एक समय उसे नौकरी और रोजगार चाहिए। इसके लिए जिम्मेदारी सरकार की है। सरकार आज आपके दरवाजे पर आई है। आपको त्रेता युग की स्मृतियों से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। सरकार ने अयोध्या को नगर निगम की मान्यता दी है।

विदेश में नेशनल हाईवे राम के नाम पर
सीएम योगी ने कहा कि दुनिया के एक दर्जन देश हैं जहां के लोग रामलीला से प्रेरणा लेते हैं। थाईलैंड में सभी नेशनल हाईवे राम के नाम पर है। वहां का राजा कहता है कि राम हमारे पूर्वज थे। इंडोनेशिया सबसे बड़ा मुस्लिम देश है। वहां से जितने कलाकर हैं वह सब मुस्लिम हैं। उन लोगों ने कहा कि मुस्लिम हमारा धर्म है पर राम हमारे पूर्वज हैं।

यह भी पढ़ें … मुस्लिम महिलाओं ने उतारी भगवान राम की आरती, मंदिर निर्माण के लिए मांगी दुआ

जो मैं करूंगा लोग उसकी उल्टी बात करेंगे
विपक्षी दलों की आलोचनाओं का जवाब देते हुए सीएम योगी ने कहा कि कुछ लोग हैं जो मैं करूंगा लोग उसकी उल्टी बात करेंगे। मैं अयोध्या आ रहा हूं तो लोग कहेंगे कि अयोध्या क्यों आ रहे हैं? ना आऊं तो कहेंगे कि डर के मारे नहीं आ रहे हैं? अब ये मुद्दा है कि जनता के ध्यान को हटाने के लिए अयोध्या आ रहे हैं।

यही राम राज्य है, पहले की सरकार में रावण राज्य था 
सीएम योगी ने कहा कि पिछले 15 सालों में अयोध्या में कितने दिन बिजली मिलती थी। आज अयोध्या में हम 24 घंटे बिजली देने को तैयार हैं। पहले यूपी के तीन-चार चुनिंदा जिलों में बिजली जाती थी। ये लोग विकास में, बिजली में भेदभाव करते थे। हमारी सरकार में चेहरा, मजहब देखकर भेदभाव नहीं किया जाता, यही राम राज्य है। वो रावण राज्य था। जब यह देश आजादी का 75वां साल पूरे कर रहा होगा तब हम अपनी आने वाली पीढ़ी को क्या देकर जाएंगे। अगर ताकत आपके पास होगी तो आप कुछ भी कर पाएंगे।

राम-राज्य की परिकल्पना करेंगे साकार
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गंदगी और गरीबी से मुक्त भारत बनाएंगे, आतंकवाद और सांप्रदायिकता मुक्त भारत बनाएंगे। पीएम मोदी के नेतृत्व में देश सशक्त बन रहा है। राम-राज्य की परिकल्पना को हम साकार करेंगे। देश में राम राज्य की स्थापना का संकल्प लेते हुए सीएम योगी ने अपना भाषण संपन्न किया।

क्या बोले दोनों डिप्टी सीएम ?
-डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने श्री राम का जयकारा लगवाया।
-उन्होंने कहा कि हम सब चाहते हैं कि आसुरी प्रवृत्तियों का नाश हो, यूपी भ्रष्‍टाचार, व्‍याभिचार से मुक्‍त हो।
सीएम केशव मौर्य ने कहा कि यह सच है कि राम जन्म भूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण अधूरा है।
-हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार कर रहे हैं।
-हमें कोई सरयू की आरती करने और श्री राम का भव्य विग्रह लगाने से नहीं रोक सकता।
-हम अयोध्या का विकास करेंगे।
-दुनिया भर के राम भक्त इस आयोजन से खुश हैं।
-भले ही हम अभी भव्‍य राम मंदिर का निर्माण नहीं कर सकते, लेकिन अयोध्‍या का विकास करने से कोई रोक नहीं सकता।
-इस धरती से पीएम मोदी को भी बधाई।

राम की पैड़ी पर दीपोत्सव

क्या कहा पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने ?
-विदेशी भ्रमणकारी यात्रियों ने भी इस नगरी की महत्ता का वर्णन किया है।
-जब से हम पैदा हुए हैं तब से राम का नाम सुना है
-पैदा होते ही राम, कष्ट में राम और मरने के बाद भी राम का जिक्र करते हैं।
-जब यहां पर राम लक्ष्मण आए होंगे तो दीप जल उठे होंगे।
-वह सब परिकल्पना मूर्त रूप लेगी। 2 लाख दीये जलेंगे।
-हम अयोध्या को विश्व पर्यटन के मानचित्र पर लाना चाहते हैं।
-जब जब दीपावली में यह आयोजन होगा, दुनिया भर में लोग राम की गाथा सुनेंगे।

यह भी पढ़ें … पहले तो गुंडाराज था, अब रामराज्य है, इसमें दस गुना क्राइम बढ़ गया : रामगोपाल

केंद्रीय पर्यटन मंत्री के जे अल्फोंस ने क्या कहा ?
-यह अयोध्या का मेरा पहला ट्रिप है।
-मैं बहुत खुश हूं।
-ईमानदार सीएम योगी के नेतृत्व में यूपी का विकास होगा।

क्या कहा मंत्री महेश शर्मा ने ?
-केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री महेश शर्मा ने कहा कि राम राज्य की शुरुआत हो चुकी है।
-आज विकास का जो पहिया राम की नगरी में बहेगा वह विश्व मानचित्र पर दिखेगा।
-केंद सरकार अयोध्या के विकास के लिए संकल्पबद्ध हैं।