500 करोड़ की लागत से बनेगी ये फिल्म, हिंदी सिनेमा में लिखेगा एक और इतिहास!

हिंदी सिनेमा एक और महाकाव्य ‘रामायण’ पर फिल्म बनाने के लिए अपनी कमर कस रहा है। 500 करोड़ रुपए की फीचर फिल्म के लिए तीन फिल्म निमार्ताओं ने हाथ मिलाया है।

500 करोड़ की लागत से बनेगी ये फिल्म, हिंदी सिनेमा में लिखेगा एक और इतिहास!

प्रतीकात्मक फोटो

 

500 करोड़ की लागत से बनेगी ये फिल्म, हिंदी सिनेमा में लिखेगा एक और इतिहास!
प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई (आईएएनएस): हिंदी सिनेमा एक और महाकाव्य ‘रामायण’ पर फिल्म बनाने के लिए अपनी कमर कस रहा है। 500 करोड़ रुपए की फीचर फिल्म के लिए तीन फिल्म निमार्ताओं ने हाथ मिलाया है। ‘मिरर’ के अनुसार, मंगलवार को इस फिल्म के निर्माण के लिए तीन निर्माताओं अलू अरविंद, नमित मल्होत्रा और मधु मंतेना ने हाथ मिलाया।

यह फिल्म हिंदी, तेलुगू और तमिल भाषाओं में होगी। जो कि भारत की सबसे महत्वाकांक्षी परियोजना के रूप में अनुमानित 500 करोड़ रुपए के बजट के साथ पेश होगी। इस फिल्म को 3डी में शूट किया जाएगा और तीन भाग की श्रृंखला के रूप में जारी किया जाएगा।

इन सब की पुष्टि करते हुए अलू अरविंद ने ‘मिरर’ को बताया, “यह एक बड़ी जिम्मेदारी है। लेकिन, रामायण को बड़े पर्दे पर संभवत: सबसे शानदार तरीके से बताया जाना चाहिए। हम एक शानदार प्रस्तुति लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

एक करीबी सूत्र के अनुसार, तीनों निर्माता स्क्रिप्ट पर एक साल से अधिक से काम कर रहे हैं। उन्होंने महसूस किया कि महाकाव्य को कई सालों से बड़ी स्क्रीन पर पेश नहीं किया गया है। 1987-88 में दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाली रामानंद सागर की रामायण और फिर 2008 में सागर आर्ट्स द्वारा इस महाकाव्य को एक बार फिर नए परिवेश में बनाया गया था। अब वे इस समय महाकाव्य को बड़े पर्दे पर लाना चाहते हैं।”

व्यक्तिगत रूप से इस फिल्म के साथ जुड़े नमित कहते हैं, “मेरे परिवार की तीन पीढ़ियां फिल्मों में रही हैं और हमारे पास इस तरह की कहानियों को जीवन देने की अग्रणी क्षमता है।

दुनिया के लिए सबसे बड़ी भारतीय कहानी को इस तरीके से बताने का इससे बेहतर समय और मौका नहीं हो सकता है। अल्लू सर और मधु के साथ साझेदारी ने मुझे सबसे अच्छे सहयोगियों के साथ गठबंधन का मौका दिया है। इस महाकाव्य के साथ हम एक ऐसा सिनेमाई अनुभव करवाएंगे जिस पर सभी भारतीय गर्व कर सकेंगे।”