बोर्ड एग्जाम रिजल्ट: झारखंड के 66 स्कूल, कॉलेजों में एक भी स्टूडेंट पास नहीं

झारखंड में इस साल 10वीं तथा 12वीं के नतीजे बेहद खराब आए हैं। प्रदेश के 66 स्कूलों व इंटरमीडिएट कॉलेजों के एक भी छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाए। 10वीं तथा 12वीं कक्षा के परीक्षा परिणाम को शिक्षा विभाग की प्रमुख नीरा यादव ने 30 मई को जारी किया।

Published by tiwarishalini Published: June 1, 2017 | 6:35 pm
Modified: June 1, 2017 | 6:39 pm
बोर्ड एग्जाम रिजल्ट: झारखंड के 66 स्कूल, कॉलेजों में एक भी स्टूडेंट पास नहीं

बोर्ड एग्जाम रिजल्ट: झारखंड के 66 स्कूल, कॉलेजों में एक भी स्टूडेंट पास नहीं
रांची:
 झारखंड में इस साल 10वीं और 12वीं बोर्ड के नतीजे बेहद खराब आए हैं। प्रदेश के 66 स्कूलों और इंटरमीडिएट कॉलेजों के एक भी छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाए। 10वीं और 12वीं क्लास के परीक्षा परिणाम को शिक्षा विभाग की प्रमुख नीरा यादव ने 30 मई को जारी किया।

झारखंड अकादमी परिषद (जेएसी) के मुताबिक, 10वीं में 57.9 फीसदी, इंटरमीडिएट साइंस के 52.36 फीसदी और इंटर-वाणिज्य के 60.09 फीसदी छात्र परीक्षा में पास हुए। शिक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक, 33 इंटरमीडिएट कॉलेज और इतनी ही संख्या में उच्च विद्यालयों के एक भी छात्र परीक्षा में पास नहीं हो पाए।

बोर्ड एग्जाम रिजल्ट: झारखंड के 66 स्कूल, कॉलेजों में एक भी स्टूडेंट पास नहीं
33 इंटरमीडिएट कॉलेजों में कुल 148 छात्र 12वीं क्लास की परीक्षा में बैठे, जबकि स्कूलों के 240 छात्र 10वीं क्लास की परीक्षा में बैठे थे, लेकिन एक भी छात्र पास नहीं हो पाए। चिंतित शिक्षकों और राष्ट्रीय शिक्षा संघ ने खराब नतीजों के लिए तकनीकी कारणों का हवाला दिया है।

राष्ट्रीय शिक्षा संघ के महासचिव अमरनाथ झा ने कहा कि भारी संख्या में 10वीं क्लास के छात्र अंग्रेजी की परीक्षा में फेल हो गए। झारखंड अकादमी परिषद के प्रावधानों का ख्याल नहीं रखा गया। शिक्षक संघ के सदस्यों ने बुधवार को जेएसी के अध्यक्ष अरविंद प्रसाद सिंह से मुलाकात की और मुद्दे से उन्हें अवगत कराया। अध्यक्ष ने मुद्दे को देखने का आश्वासन दिया है।

–आईएएनएस