स्वच्छता ऐप डाउनलोड करने में पिछड़ रहा ‘नवाबी’ शहर, हो सकती है फजीहत

Published by aman Published: January 8, 2018 | 4:24 pm
Modified: January 8, 2018 | 4:46 pm
स्वच्छता ऐप डाउनलोड करने में पिछड़ रहा 'नवाबी' शहर, हो सकती है फजीहत

लखनऊ: नबाबों का शहर लखनऊ ‘स्वच्छता ऐप’ डाउनलोड करने में पीछे चल रहा है। 31 दिसम्बर तक ऐप डाउनलोड करने की समय सीमा थी। लेकिन ख़राब प्रदर्शन को सुधारने के लिए यह समय सीमा एक महीने यानि 31 जनवरी तक बढ़ा दी गई है। मगर, अभी लखनऊ इस ऐप को डाउनलोड करने में बहुत पीछे है। तय समय में लक्ष्य हासिल करना बेहद मुश्किल लग रहा है।

स्वच्छता सर्वेक्षण में मिल सकती है कम रेटिंग
देश के 4 हजार से ज्यादा शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण चल रहा है। जिसके तहत इस ऐप को डाउनलोड करने वाले शहरों को बेहतर अंक मिलेगा और उनकी रेटिंग भी अच्छी आएगी। जहां तक लखनऊ का सवाल है तो यहां कुल 60 हजार से ज्यादा लोगों को ऐप डाउनलोड करने का लक्ष्य है। मगर अभी तक मात्र 30 हजार के आसपास ही ऐप डाउनलोड हो पाया है। हालांकि, इसकी सीमा 31 जनवरी तक बढ़ा दी गई है।

मंत्री भी कर चुके हैं ऐप डाउनलोड करने की अपील
दो दिन पहले ही शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा था, कि लखनऊ शहर को अव्वल बनाना है तो ज्यादा से ज्यादा लोगों को ऐप डाउनलोड करना पड़ेगा। उनकी इस अपील के बाद भी ऐप डाउनलोड करने की गति नहीं बढ़ी है। जहां तक नगर निगम का सवाल है तो निगम की ओर से ऐप डाउनलोड करने के देर से जागरूकता अभियान चलाया जाना भी इसका एक कारण है।

यहां से करें ऐप डाउनलोड
अपर नगर आयुक्त पीके श्रीवास्तव ने बताया, कि स्वच्छता ऐप डाउनलोड करना बेहद आसान है। गूगल प्ले स्टोर पर सर्च करके आसानी से इसे डाउनलोड किया जा सकता है। इसके अलावा स्मार्ट सिटी लखनऊ की वेबसाइट से भी इसे डाउनलोड किया जा सकता है। वेबसाइट पर ऐप डाउनलोड करने के बारे में स्टेप बाई स्टेप तरीका भी बताया गया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App