#RiyadhSummit ! ट्रंपवा की अगुवानी में किंग तो नाच-गा रहे हैं……फ़तवा कब भेज रहे हो ?

नई दिल्ली : सऊदी अरब के रियाद में पहली बार अरब-इस्लामिक-अमेरिकी शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें लगभग सभी इस्लामिक देशों के प्रतिनिधि मौजूद थे। इनके साथ ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी यहाँ आए। आना ही था, बयानबाजी भी हुई लेकिन इस सबके बीच कुछ ऐसा भी हुआ। जिसने दुनिया भर का ध्यान अपनी ओर खींचा, खासकर उनलोगों का जो फिजूल के फतवों से परेशान हुए। अब ऐसा क्या था जो नहीं होना चाहिए था।

तो मियां आपको बता दें, दरअसल ट्रंप की अगुवानी में सऊदी किंग ने जाबर तरीके से नाच गाने का आयोजन किया था। सभी करते हैं, अपने मेहमानों को खुश करने के लिए। अब आप सोच रहे होंगे कि इसमें नया क्या है। तो आपको बता दें, हमारे आसपास मौजूद कुछ खास! बोले तो विशेष तरीके के कुछ लोग कहते घूमते हैं, कि इस्लाम में नाच गाना हराम है।

अब हमें जितनी जानकारी है, उसके हिसाब से अरब से ही इस्लाम दुनिया भर में फैला है, और वो ही इसकी बातों पर अमल नहीं कर रहे। तो किंग पर भी एक फ़तवा ज़ारी होना चाहिए, की आपने इस्लाम की बेअदबी की है। आपको इस्लाम से बेदखल किया जाता है, क्यों भाई हमने कुछ गलत तो नहीं कहा। आखिर चीजें सभी के लिए एक ही होनी चाहिए न! होनी चाहिए की नहीं, बोलो न मियां कब भेज रहे हो किंग को फ़तवा।

हमें पता है! फ़तवा भेजना आपके बूते की बात नहीं है। क्योंकि वहां आपकी कोई सुनेगा ही नहीं, आपसे पहला सवाल होगा कि आप कौन , कहाँ से… हिम्मत कैसे हुई, आपकी ये सब करने की।

कोई नहीं! आप भी देखो कैसे किंग के साथ उनके साथी बराती ट्रंप के लिए धिंचक नाच गाना कर रहे हैं।

अरे! देख लो यार 10,593,073 लोग देख चुके हैं। वैसे इसे देखने के बाद फ़तवा लिखने में आसानी भी रहेगी। قمة الرياض Riyadh Summit की ओर से ये वीडियो अपलोड किया गया है। सबसे बड़ी बात ये है, आप इसे देख तो सकते हैं लेकिन कमेंट नहीं कर सकते।

ये रहा वीडियो