हिंदवी स्वराज दिवस पर CM योगी की फ्लीट को काले झंडे दिखाने वाले स्टूडेंट्स जेल से रिहा

Published by Published: June 30, 2017 | 12:01 pm
lu-students

लखनऊ: 7 जून को लखनऊ यूनिवर्सिटी में हिंदवी स्वराज दिवस के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फ्लीट को काले झंडे दिखाने वाले स्टूडेंट्स को आज जेल से बेल मिल गई है। सभी को आज रिहा कर दिया गया।

क्या है पूरा मामला
-राजधानी के लखनऊ यूनिवर्सिटी में 7 जून को हिंदवी स्वराज दिवस मनाया गया था।
-समारोह में सीएम आदित्यनाथ और गवर्नर रामनाईक समेत कई बड़ी हस्तियां मौजूद थीं।
-सीएम योगी और रामनाईक शाम 5 :30 बजे कार्यक्रम में पहुंचे थे, जहां उन्होंने शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए।

-इससे पहले स्टूडेंट्स ने यूनिवर्सिटी के गेट नंबर एक पर सीएम की फ्लीट को काले झंडे दिखाए।
-सीएम फ्लीट को काले झंडे दिखाने  पर अंकित सिंह, बाबू, अनिल यादव, माधुरी सिंह, विनीत कुशवाहा समेत कई स्टूडेंट्स को अरेस्ट कर लिया गया।
-सुरक्षाकर्मियों ने स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लाठीचार्ज भी किया था।

आगे की स्लाइड में जानिए क्या था विरोध का कारण

lu-students
ये था विरोध का करण 
-समाजवादी छात्रसभा, आईसा, एसएफआई के छात्र नेताओं ने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ छत्रपति शिवाजी महाराज के एक कार्यक्रम में विश्वविद्यालय आये थे।
-इस कार्यक्रम के जरिये छात्रो पर जबरन भगवाकरण को थोपने की साजिश की जा रही थी।
-इसी साजिश के चलते छत्रपति शिवाजी के इस समारोह को हिंनदवी साम्राज्योत्सव की संज्ञा दी गयी। ये तानाशाही नहीं बर्दाश्त करेंगे।इसीलिए काले झंडे दिखाकर विरोध किया।
-पूजा शुक्ला ने बताया कि योगी सरकार की दमनकारी पुलिस और कंमांडो ने छात्रों को अपराधियों की तरह पीटा। लेकिन हमारा संघर्ष जारी रहेगा।
आगे की स्लाइड में देखिए रिहा होने के बाद की कुछ और तस्वीरें

आगे की स्लाइड में देखिए रिहा होने के बाद की कुछ और तस्वीरें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App