उम्र के इस पड़ाव पर दुबई में, इन दो महिलाओं ने किया व्हीलचेयर पर कारनामा

कहते हैं कि अगर हौसला बुलंद हो तो जटिल से जटिल काम भी आसान हो जाता है। ऐसा ही दुबई में दो बुजुर्ग भारतीय महिलाओं ने कर दिखाया है। इन्होंने अपने उम्र को मात देकर मिसाल बनाई है। व्हीलचेयर पर इन दोनों महिलाओं ने 5 किलोमीटर की ‘दुबई रन’

जयपुर: कहते हैं कि अगर हौसला बुलंद हो तो जटिल से जटिल काम भी आसान हो जाता है। ऐसा ही दुबई में दो बुजुर्ग भारतीय महिलाओं ने कर दिखाया है। इन्होंने अपने उम्र को मात देकर मिसाल बनाई है। व्हीलचेयर पर इन दोनों महिलाओं ने 5 किलोमीटर की ‘दुबई रन’ दौड़ पूरी की।एक खबर के मुताबिक ये दोनों महिलाएं कुसुम भार्गव (86) और ईश्वरी अम्मा (78) हैं। दोनों ने इस दौड़ में बड़े ही उत्साह भाग लिया।

 

यह पढ़ें….Twitter पर मां के लिए दूल्हा खोज रही इस बेटी को लोगों ने दिया ऐसा जवाब…

 

दुबई रन में हिस्सा लेने वाली कुसुम भार्गव सबसे बुजुर्ग प्रतियोगी थीं। उन्होंने कहा कि उनके लिए यह एक बेहतरीन अनुभव रहा। वे कई लोगों से मिली, साथ तस्वीरें भी लीं। और 5 किलोमीटर की दौड़ पूरी की और इस सफलता का श्रेय अपनी बहू को दिया ।

 

 

यह पढ़ें….ये लड़की नहीं, केक है, इसकी कीमत सुनकर छोड़ देखें खाना, उड़ जाएंगे बेहोश

वहीं, शारजाह की ईश्वरी अम्मा भी दुबई रन में हिस्सा लेने वाली सबसे उम्रदराज प्रतियोगी थीं। उन्होंने भी अपनी बहू और नाती-पोतों के साथ दौड़ में हिस्सा लिया। उनके परिवार के सदस्यों ने ही दौड़ की शुरुआत से अंत तक व्हीलचेयर को धक्का दिया। इन महिलाओं को इच्छा शक्ति को देखकर यही कह सकते हैं कि जिंदगी के किसी भी पड़ाव में हो अगर जीने इच्छा शक्ति प्रबल है तो आपको सफलता से कोई रोक नहीं सकता।