राज्यपाल राम नाईक कल लेंगे ‘नेशनल सेल्यूट’, ‘गार्ड आफ आॅनर’ भी

लखनऊ : राज्यपाल राम नाईक को पिछले साल की तरह प्रोटोकाल के तहत गुरूवार को शुरू हो रहे राज्य विधान मण्डल के संयुक्त अधिवेशन को सम्बोधित करने से पहले राजभवन में ‘गार्ड आफ आॅनर’ दिया जायेगा। उसके बाद वह विधान भवन पहुंचेंगे। वहां मुख्यमंत्री, विधान परिषद के सभापति, विधान सभा अध्यक्ष उनका स्वागत करेंगे। विधान भवन पोर्टिकों में ‘नेशनल सेल्यूट’ दिया जाएगा। उसके बाद गवर्नर विधान सभा मण्डप के लिये प्रस्थान करेंगे।
सीएम ने राज्यपाल से चर्चा की
उधर राज्यपाल से बुधवार को राजभवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिष्टाचारिक भेंट की। उन्होंने गुरूवार से आहूत राज्य विधान मण्डल के संयुक्त अधिवेशन पर चर्चा की। बता दें कि वर्ष के पहले अधिवेशन में राज्यपाल विधान मण्डल के दोनों सदनों को संयुक्त रूप से सम्बोधित करते हैं जिसके बाद औपचारिक रूप से सदन की कार्यवाही शुरू होती है। वर्तमान सरकार का यह दूसरा संयुक्त सत्र है।
सीएम ने दिया ताज महोत्सव के समापन का आमंत्रण, गवर्नर ने जताई असमर्थता
मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को 18 से 27 फरवरी तक आयोजित होने वाले ताज महोत्सव के समापन समारोह के लिये भी आमंत्रित किया। राज्यपाल ने कार्यक्रम में सम्मिलित होने में असमर्थता जताते हुये बताया कि 27 फरवरी को मुंबई में महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन्हें मराठी संस्मरण संग्रह ‘चरैवेति! चरैवेति’ के लिये लक्ष्मीबाई तिलक पुरस्कार से सम्मानित किया जाने का कार्यक्रम है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र सरकार हर साल मराठी साहित्य में विमोचित लेखन की विभिन्न कलाओं जैसे लघुकथा, ललित गद्य, दलित साहित्य, शिक्षण शास्त्र, बाल वांगमय, नाटक, उपन्यास, आत्मचरित्र के लिए पुरस्कार देती है।