इनकम टैक्स चीफ कमिश्नर अचानक पहुंचे दारुल उलूम देवबंद, आखिर क्यों?

सहारनपुर:  इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारियों के प्रतिनिधि मंडल  के साथ विभाग के चीफ कमिश्नर ने देवबंद पहुंच विश्व प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम देवबंद का भ्रमण किया। इस दौरान प्रतिनिधि मंडल ने संस्था के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी से मुलाकात कर दारुल उलूम के इतिहास और जंगे आजादी में इसके योगदान के बारे में जाना।
आज दोपहर को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के चीफ कमिश्रर रजनीकांत गुप्त के नेतृत्व में अधिकारियों के प्रतिनिधि मंडल ने दारुल उलूम देवबंद के महमानखाने में संस्था के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी से मुलाकात की। खेरमकदम करते हुए मुफ्ती अबुल कासिम ने महमानों को दारुल उलूम के इतिहास व जंगे आजादी में इसके अहम योगदान से रुशनास कराया। साथ दारुल उलूम के इतिहास पर आधारित कुछ किताबें भी प्रतिनिधिमंडल में शामिल अधिकारियों को उपहार स्वरूप दी। इस दौरान इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के चीफ कमिश्रर रजनीकांत गुप्त ने कहा कि वह लम्बे समय से दारुल उलूम देवबंद का भ्रमण करना चाहते थे। उन्होंने दारुल उलूम का भ्रमण करने और संस्था के मोहतमिम से मुलाकात को अपना सौभाग्य बताया। इसके उपरांत अधिकारियों के प्रतिनिधि मंडल ने दारुल उलूम की लाईब्रेरी समेत ऐतिहासिक इमारतों का भ्रमण किया। जहां पर उनकी अगुवाई शोबा तंजीम व तरक्की के अशरफ उस्मानी ने की। प्रतिनिधि मंडल में चीफ कमिश्रर रजनीकांत की धर्म पत्नि, डिपार्टमेंट के ज्वाइंट कमिश्रर राजेश कुमार, जेपी सिंह समेत करीब एक दर्जन अधिकारी शामिल रहे।