वसीम की वो ’18 बातें’ जो साबित करती हैं कि इस बार ‘बर्र के छत्ते’ में हाथ दे दिया

Published by Rishi Published: July 8, 2018 | 8:38 pm
Modified: July 8, 2018 | 8:40 pm

लखनऊ : यूपी की राजनीति हमेशा से देश को दिशा दिखाने वाली रही है। फिर चाहे वो नेता हों या फिर मुद्दा। एक बार फिर यूपी ने देश को दाढ़ी और उसके नूर का मुद्दा दे दिया है। शुरुआत की थी योगी के बयानवीर मंत्री मोहसिन रजा ने।

ये भी देखें : इलेक्‍शन इफेक्‍ट: योगी के क्लीन शेव मंत्री को मोदी की दाढ़ी में नजर आता है ‘नूर’

मंत्री जी ने पीएम की दाढ़ी में मुस्लिम कनेक्शन खोज लिया। तो वहीं अब शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी भी दाढ़ी पर ज्ञान देने लगे हैं।

ये भी देखें : अब पठानी सूट या पैंट शर्ट में दिखेंगे मदरसा स्‍टूडेंट, ऐलान के बाद विवाद शुरू

आप भी पढ़ लीजिए वसीम का दाढ़ी ज्ञान। लेकिन इससे पहले ये समझ लीजिए ये सब अगले साल होने वाले चुनाव के मुद्दों का लिटमस टेस्ट है। जो हिट हो जाएगा वो मुद्दा उछाल दिया जाएगा।

क्या कहा वसीम ने 

1. दाढ़ी रखना सुन्नत है
2. लेकिन दाढ़ी रख कर मुछें न रखना सुन्नत नहीं है
3. दाढ़ी रखकर मूंछ न रखने से शक्ल डरावनी होती है
4. बगैर मुछों के दाढ़ी रखने वाले मुसलमान कट्टरपंथी होते हैं
5. ऐसे ही कुछ चेहरे आतंक की पहचान बन गए हैं
6. दुनिया खौफजदा है, बगैर मुछों के दाढ़ी खौफ पैदा करती है
7. बगैर मूछों के दाढ़ी,वो गैर शरई है
8. कट्टरपंथी मुल्ला शरीयत का सहारा लेकर फतवे दे रहे, लोगों की जाती ज़िन्दगी में फ़तवे दिया करते हैं
9. इससे इस्लाम का कोई लेना देना नहीं है
10. बिंदी लगाना, मांग भरना औरतों की सुहाग की निशानियां है, ये पवित्र प्रथा कभी हराम नही हो सकती
11. फतवे देने वाले मुल्लाओं के खिलाफ केस दर्ज हो, देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए
12. संविधान, भारतीय कानून हटकर कानून बनाना चाहते हैं
13. आईएसआईएस के झंडे लेकर लोग जिहाद फैलाना चाहते हैं
14. कट्टरपंथी मुल्ला, मुसलमान कश्मीर में दिखाई दे रहे
15. भारत में ऐसे मुल्ला मौलानाओं की नहीं चलेगी
16. कट्टरपंथियों की इस्लामिक हुक़ूमत स्थापित करने की चाह है
17. भारत में एक बड़े खून खराबे की ओर इशारा कर रही है
18. कट्टरपंथी मुल्लाओं पर सख्त कार्रवाई होनी जरूरी