बड़े गठबंधन में शामिल होने से RLD का इनकार, कहा-छोटे दलों के साझा मंच पर लड़ेंगे चुनाव

आरएलडी नेता जयंत चौधरी ने सपा और कांग्रेस के गठबंधन में शामिल होने की खबरों को खारिज कर दिया। जयंत ने ऐसी खबरों को न सिर्फ मनगढ़ंत और बेबुनियाद बताया, बल्कि इसे आरएलडी के खिलाफ साजिश करार दिया।

बड़े गठबंधन में शामिल होने से RLD का इनकार, कहा-छोटे दलों के साझा मंच पर लड़ेंगे चुनाव

लखनऊ: राष्ट्रीय लोकदल ने प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के साथ चुनावी गठबंधन की किसी भी संभावना से इनकार किया है। पार्टी ने कहा कि बड़े दलों से गठजोड़ के बजाय वह छोटे दलों के साथ साझा मंच खड़ा करने की कोशिश कर रही है।

बड़े गठबंधन से दूरी 
-newstrack.com से बातचीत करते हुए आरएलडी नेता जयंत चौधरी ने सपा और कांग्रेस के गठबंधन में शामिल होने की खबरों को खारिज कर दिया।
-जयंत ने ऐसी खबरों को न सिर्फ मनगढ़ंत और बेबुनियाद बताया, बल्कि इसे आरएलडी के खिलाफ साजिश करार दिया।
-आरएलडी नेता ने कहा कि उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव में छोटे दलों के साथ मिल कर एक साझा मंच तैयार कर रही है।

छोटे दलों का साझा समूह
-छोटे चौधरी के नाम से चर्चित और आरएलडी प्रमुख चौधरी अजित सिंह के पुत्र जयंत चौधरी ने इन खबरों के समय को लेकर भी सवाल उठाया।
-जयंत चौधरी ने कहा कि ये खबरें ऐसे समय में उठ रही हैं, जब मुजफ्फरनगर के चर्थ्वाल में आरएलडी की एक बड़ी सभा में एनसीपी नेता शरद पवार और जनता दल (एस) नेता दानिश अली शामिल हुए थे।
-जयंत चौधरी ने कहा कि आरएलडी के सपा और कांग्रेस के गठबंधन में शामिल होने की खबरों का मकसद निश्चित रूप से छोटे दलों की साझा प्रक्रिया को नुकसान पहुंचाना है।

-उन्होंने कहा कि आरएलडी ने अब तक सपा या कांग्रेस में से किसी भी दल से गठबंधन में शामिल होने के लिए बात नहीं की है।
-जयंत ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से भी ऐसी बरगलाने वाली खबरों से गुमराह न होने की अपील की है।
-उन्होंने कहा कि उनका मकसद गैर सांप्रदायिक राजनीति के साथ किसानों और समाज के कुचले लोगों के हक की लड़ाई लड़ना है