हादसा: मजदूर ने सुनाया आंखो देखा हाल, जानें कैसा था वो मंजर, हर घंटे एक की मौत

शाहजहांपुर: निर्माणाधीन स्कूल की बिल्डिंग गिरने के मामले मे अभी रेस्क्यू आप्रेशन जारी है। अभी करीब 20 मजदूरों के दबे होने की आशंका है। स्कूल कि बिल्डिंग गिरने के बाद हम आपको आंखो देखा हाल बताएंगे कि कैसा था मंजर। दरअसल एक मजदूर मौत के कुछ दूर पर मौत खङी थी। और मौत के आगोश से बाहर निकलते ही इस मजदूर ने अपने करीब 50 साथियों मलबे मे दबते देखा है। काफी भयानक मंजर था। खुद को ये मजदूर बहुत खुशकिस्मत समझता है। जिसके बिल्कुल भी चोट नही आई।
बता दें कि करीब हर घंटे एक मजदूर की मौत हो रही है|  मलबे के नीचे दबे मजदूरों की मरने वालों की संख्या तीन हुई । एक और घायल मजदूर को निकालकर जिला अस्पताल भेजा गया। जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने की 3 मौतों की पुष्टि की ।
मजदूर ने सुनाया आंखो देखा हाल जानें कैसा था मंजर
दरअसल इस मजदूर का नाम है राम नरेश है, ये सुबह अपने घर से निकलकर मजदूरी करने आया था। दिन भर काम करने के बाद जब सभी मजदूर छुट्टी के टाईम का इंतजार कर रहे थे। और काम भी दिन भर का लास्ट स्टेज पर था। चुकी पांच बजने वाला था और छुटटी का वक्त करीब आ रहा था। मजदूर राम नरेश ने बताया कि वह ईट उठाने के लिए बिल्डिंग के बाहर आया था। तभी बाहर आते ही बम फटने जैसी आवाज आई और चारो ओर धूल ही धूल दिख रही थी।
हम बहुत खुशकिस्मत है कि हम उसी वक्त बिल्डिंग से निकलकर बाहर आए थे…
मेरे कुछ समझ नही आ रहा था कि आखिर हुआ क्या है। कुछ मिनट बाद देखा कि एक भी मजदूर काम करते नही दिख रहा है। उसके बाद पता चला कि बिल्डिंग का लेंटर गिर गया और सन्नाटा छा गया। उसके बाद डरते डरते मलबे के करीब गए तो देखा कि कुछ मजदूर चिल्ला रहे है। उसके बाद कुछ मजदूरों को निकाला गया और कुछ करीब एक घंटे बाद अधिकारी मौके पर पहुचे है। उनका कहना है कि हम बहुत खुशकिस्मत है कि हम उसी वक्त बिल्डिंग से निकलकर बाहर आए थे।