तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला ऐतिहासिक : अजय अग्रवाल

Published by Rishi Published: August 22, 2017 | 9:44 pm

रायबरेली : वरिष्ठ भाजपा नेता व सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अजय अग्रवाल ने तीन तलाक को असंवैधानिक घोषित किये जाने के सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को ऐतिहासिक बताते हुए कहा है, कि मुस्लिम महिलाओं को आज वास्तविक आजादी का अनुभव हो रहा है।

ये भी देखें:आइए! इतिहास के झरोखे से देखें #TripleTalaq का एक किस्सा 

उन्होंने कहा उनके लिए आज का दिन 15 अगस्त 1947 को मिली आजादी से ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि आज उन्हें संविधान के अनुच्छेद 14 (समानता का अधिकार) के अंतर्गत अधिकार मिल गया है। अभी तक तो वह डर-डर के एक गुलामी भरा वैवाहिक जीवन काटती थी, तथा हमेशा अपने शौहर की त्रासदी का शिकार रहती है कि कहीं उनका पति नाराज न हो जाय और तीन तलाक न दे दे।

ये भी देखें:#TripleTalaq पर अल्पमत निर्णय समकालिक नहीं : मुकुल रोहतगी 

अजय ने कहा वहीँ उनको यह अधिकार नहीं था कि वह अपने पति को इस प्रकार तलाक दे सके। आज इस विषमता को सुप्रीम कोर्ट ने दूर कर दिया है, और मुस्लिम पुरुष और स्त्री को बराबर का अधिकार प्राप्त हो गया है।