वाराणसी: भारत बंद के लिए गांधीगिरी पर उतरी कांग्रेस, सपाईयों ने खुद को किया जंजीरों में कैद

वाराणसी: पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर पूरे देश में आंदोलन हो रहा है। विपक्ष के भारत बंद का पूरे देश में असर दिख रहा है। बंद के नाम पर कई जगहों पर तोड़फोड़ और उग्र प्रदर्शन की खबरें सामने आ रही हैं तो वहीं प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसकी तारीफ हर ओर हो रहा है। बनारस में भारत बंद के के दौरान कांग्रेसियों ने अनूठी मिसाल पेश की। कांग्रेसी कार्यकर्ता तोड़फोड़ की जगह गांधीगिरी करते नजर आए।

फूल देकर बंद कराईं दुकानें

भारत बंद को कामयाब बनाने के लिए कांग्रेसी सुबह से सड़कों पर उतर आए थे। लेकिन सबकी नजरें टिकी थी कैंट स्टेशन और काशी विद्यापीठ के पास हो रहे प्रदर्शन को लेकर। यहां पर कांग्रेस सेवा दल के कार्यकर्ता  गांधीगिरी करते नजर आए। दुकानों को बंद कराने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता फूल का इस्तेमाल कर रहे थे। कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों को फूल दिया और दुकान बंद करने की अपील की। दुकानदारों ने भी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की बात रखते हुए अपनी दुकानें बंद कर दीं।

जंजीरों में जकड़े सपाई उतरे सड़कों पर

भारत बंद की मुहिम में समाजवादी पार्टी ने भी कांग्रेस का साथ दिया। एक ओर कांग्रेसी गांधीगिरी करते हुए दिखे तो समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने खुद को जंजीरों में जकड़कर केंद्र की बीजेपी सरकार का विरोध किया। सपा के वाराणसी संगठन के कार्यकर्ताओं ने लोहटिया से लेकर मैदागिन चौराहे तक प्रतीकात्मक स्वरूप को लेकर गले और हाथों में जंजीर बांध कर मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए अपना विरोध जताया।

सपा के इन प्रदर्शन करने वालों की माने तो बीजेपी सरकार ने जीएसटी, मंहगाई से आम जनमानस की कमर तोड़ दी है। जिसके लिए आज वो अपना विरोध जताने के लिए संसद से सड़क तक विरोध करेंगे।  इस बीच बंद के मद्देनजर जिला प्रशासन हरकत में नजर आया। प्रमुख चौराहों और हाईवे पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। प्रदर्शनकारियों की पहचान के लिए वीडियोग्राफी कराई जा रही थी। एसएसपी आनंद कुलकर्णी अपने मातहतों के साथ खुद निगरानी करते हुए दिखे।