Top

अखिलेश ने कहा- साइकिल के हैंडिल में 'हाथ' लगने से बढ़ेगी रफ्तार, मायावती पर भी साधा निशाना

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 Jan 2017 3:17 PM GMT

अखिलेश ने कहा- साइकिल के हैंडिल में हाथ लगने से बढ़ेगी रफ्तार, मायावती पर भी साधा निशाना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

एटा: सीएम अखिलेश यादव ने सोमवार को चुनावी सभा में बसपा सुप्रीमो मायावती पर जोरदार हमला किया और उनके शासनकाल में जगह-जगह चुनाव चिन्ह हाथी लगाए जाने पर चुटकी ली। अखिलेश ने चुनावी सभा में कहा "सोचो अगर हाथी का साइज बढ़ गया तो कितना बड़ा हाथी लगा देंगी ?"

अखिलेश ने सोमवार को दो जनसभा कीं। उन्होंने कहा बसपा ने अपने शासनकाल में सिर्फ हाथी लगाए। इसके अलावा वो और कुछ लगा भी नहीं सकते थे । उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सपा के घोषणा पत्र की नक़ल की है और समाजवाद के रास्ते पर चलने की कोशिश कर रही है। सपा ने लैपटॉप दिया। अब बीजेपी को लगा कि इससे सत्ता हासिल की जा सकती ह । सपा ने लैपटॉप का वादा किया और दिया, जबकि बीजेपी सिर्फ वादों की पार्टी है।

गठबंधन पर क्या बोले अखिलेश ?

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस से गठबंधन पर कहा कि साइकिल के साथ हैंडिल में हाथ भी लग जाए तो बताओ रफ़्तार क्या होगी ? उन्होंने कहा कि सरकार बनेगी तो सबसे ज्यादा सम्मान नेता जी का बढ़ेगा। साइकिल बच गयी , पार्टी भी बच गयी अब अगले 50 साल इस समाजवादी आंदोलन को आगे बढाना उनकी जिम्मेदारी हैं। मंच पर उनके साथ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलीम इकबाल शेरवानी भी थे ।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story