Top

अखिलेश यादव अब बनाएंगे विश्वकर्मा मंदिर, गोमती रिवर फ्रंट पर होगा निर्माण

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 17 Sep 2018 2:18 PM GMT

अखिलेश यादव अब बनाएंगे विश्वकर्मा मंदिर, गोमती रिवर फ्रंट पर होगा निर्माण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सियासत इस समय मंदिर के आस पास ही घूम रही है। राम मंदिर पर चल रही सियासत के बीच बीते दिनों सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव ने विष्णु मंदिर के स्थापना का ऐलान किया था। विश्वकर्मा जंयती के मौके पर सोमवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में अखिलेश ने विश्वकर्मा मंदिर बनाने का ऐलान किया।

उन्होंने कहा सपा सरकार में विश्वकर्मा जयंती पर अवकाश घोषित किया गया था। समाजवादी सरकार फिर बनने पर न केवल अवकाश घोषित होगा बल्कि विश्वकर्मा जी के नाम पर गोमती रिवरफ्रंट पर एक सुन्दर स्थल और मंदिर भी बनाया जाएगा। विश्वकर्मा समाज शिक्षा-रोजगार पर ध्यान दे। बिना राजनीतिक हैसियत बढ़ाए सम्मान नहीं मिलता है। खोया गौरव तभी वापस मिलेगा जब राजनीतिक हैसियत बढ़ेगी।

यूपी पर सबकी निगाहें, जनता बदलाव चाहती है

अखिलेश यादव ने कहा कि जनता बदलाव चाहती है। यूपी पर सबकी निगाहें हैं क्योंकि इसका फैसला ही देश का फैसला होगा। भाजपा घबराई हुई है। उसने देश को आर्थिक रूप से धोखा दिया है। सामाजिक तानाबाना तोड़ा है। गरीबों को कुछ नहीं मिला। मंहगाई बढ़ी है। नोटबंदी-जीएसटी ने लोगों को तबाह किया है। उन्हें सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाना है। भाजपा को हटाने के लिए गठबंधन करेंगे।

जाति जनगणना के आधार पर हक और सम्मान मिले

उन्होंने कहा कि जाति जनगणना के आधार पर हक और सम्मान मिलना चाहिए। इस व्यवस्था के बिना विषमता दूर नहीं हो सकती है। भारत दुनिया के स्तर पर बहुत पीछे चला गया है। बदलाव के साथ दुनिया का मुकाबला करने के लिए समाज को भी नई तकनीक से वास्ता रखना होगा। विश्वकर्मा समाज को राजनैतिक फैसलों के साथ रहना होगा। बदलाव के साथ तरक्की के लिए समाजवादी रास्ता अपनाना होगा।

भाजपा प्रयोग करती है लोगों को कैसे परेशान किया जाए

यादव ने कहा कि भाजपा प्रयोग करती है कि लोगों को कैसे परेशान किया जाए। नोटबंदी से न कालाधन कम हुआ न भ्रष्टाचार मिटा, जीएसटी से व्यापारी परेशान है। डीजल-पेट्रोल मंहगा है। बैंक घाटे में जा रहे है। बेकारी बढ़ी है। गंगा की सफाई नहीं हुई। किसान की कर्जमाफी नहीं हुई। सिर्फ बड़े पूंजीपतियों के कर्ज माफ हुए। जनधन खाते बंद हो गए है। समाजवादी सरकार बनने पर लाभकारी योजनाओं में आबादी के हिसाब से भागीदारी होगी। समाजवादी पेंशन की राशि बढ़ेगी। जनता इंतजार कर रही है कि लोकसभा चुनाव 2019 में आए और वह बैलट पर अपना गुस्सा निकाले।

सामाजिक समानता ही सपा का आंदोलन

सपा मुखिया ने कहा कि समाज के बीच की दूरी मिटनी चाहिए। सामाजिक समानता ही समाजवादी पार्टी का आंदोलन है। जो पिछड़ गए हैं उन्हें राजनीतिक ताकत मिलनी चाहिए। यही सामाजिक न्याय की विचारधारा हैं। तरक्की के रास्ते पर बढ़ने के लिए सभी को अवसर मिलने चाहिए।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story