Top

मोदी सरकार की आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति: अमित शाह

अलगाववादियों के समूह जेआरएल ने आज घाटी में बंद का आह्वान किया है। प्रेस में जारी बयान में जेआरएल ने कहा कि उनके नेता यासीन मलिक समेत जमात-ए-इस्लामी के 200 कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी यहां चल रही दमन नीति के संकेत हैं। सोमवार को उच्चतम न्यायालय में 35ए पर सुनवाई के परिणाम क्या होंगे।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 24 Feb 2019 4:14 AM GMT

मोदी सरकार की आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति: अमित शाह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जम्मू: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की आज जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं। जम्मू के भगवती नगर में रैली को संबोधित कर रहे हैं।

रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाया है। आतंकवादियों के साथ कोई रियारत नहीं बरती जाएगी।

ये भी पढ़ें...अमित शाह ने शुरू किया ये अभियान, कहा- अयोध्या में बनाएंगे भव्य राम मंदिर

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस, NC और PDP ये परिवारवादी पार्टियां है। इन्होंने जम्मू कश्मीर के विकास की बजाय अपने विकास के लिए काम किया है।

ये भी पढ़ें...पीएम मोदी के सेल्फी विवाद पर अमित शाह का पलटवार, कहा किस मुंह से सवाल उठा रहे हो

अमित शाह की रैली का नाम श्रद्धांजलि सभा रखे जाने से साफ है कि पाकिस्तान और आतंकवाद पर ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का भाषण केंद्रित होगा। भगवती नगर स्थित ग्राउंड पर पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद ही अमित शाह अपना भाषण शुरू करेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं ने इसके लिए प्रदेश भाजपा को तैयारियां पूरी करने को कहा है।

वहीं, बुधवार को पार्टी मुख्यालय में महासचिव संगठन अशोक कौल ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दौरे की तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि भारतीय सुरक्षा बलों की शहादत पर पूरा विश्व शोक संतप्त है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने दौरे के दौरान जम्मू में पन्ना प्रमुखों से चर्चा कर लोकसभा चुनाव की तैयारी के टिप्स भी देंगे।

उधर अलगाववादियों के समूह जेआरएल ने आज घाटी में बंद का आह्वान किया है। प्रेस में जारी बयान में जेआरएल ने कहा कि उनके नेता यासीन मलिक समेत जमात-ए-इस्लामी के 200 कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी यहां चल रही दमन नीति के संकेत हैं। सोमवार को उच्चतम न्यायालय में 35ए पर सुनवाई के परिणाम क्या होंगे।

ये भी पढ़ें...अमित शाह ने संगम में स्नान कर की गंगा आरती, हनुमान मंदिर में किया पूजा

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story