Top

योगी जी! बचा लो इस इंस्पेक्टर को, दो टुकड़े कर देंगे सपा नेता अतुल प्रधान

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Nov 2017 4:16 PM GMT

योगी जी! बचा लो इस इंस्पेक्टर को, दो टुकड़े कर देंगे सपा नेता अतुल प्रधान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ : सपा नेता और पूर्व सीएम अखिलेश यादव के करीबी अतुल प्रधान ने मेरठ के मवाना में जनसभा के दौरान सुमित का एनकाउंटर करने वाले इंस्पेक्टर को धमकी देते हुए कहा, वो इंस्पेक्टर की औकात याद दिला देंगे। अगर हिम्मत है, तो सामने आए इंस्पेक्टर के दो टुकड़े कर देंगे

सपा नेता अतुल प्रधान के विवादास्पद बयान के बारे में पूछे जाने पर एडीजी मेरठ प्रशांत कुमार ने कहा कि अतुल प्रधान के विवादास्पद वीडियों के संबंध में उनके द्वारा एसएसपी मेरठ को निर्देर्शित किया गया है। वीडियों का परीक्षण करा कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई करें। वहीं मेरठ में धारा 144 लागू होने के बाद भी धरना-प्रदर्शन किये जाने के संबंध में अतुल प्रधान और उनके समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

एसएसपी मेरठ मंजिल सैनी से भी इस बारे में सम्पर्क किया गया। लेकिन उनके पीआरओ द्वारा उनके घर पर बिजी होने की बात कहते हुए बात कराने से इंकार कर दिया।

क्या है मामला

बागपत के सुमित गुर्जर का ग्रेटर नोएडा पुलिस द्वारा हुए एनकाउंटर मामले पर एसपी नेता अतुल प्रधान का धमकी भरा वीडियो सामने आया है। खुले मंच से एसपी नेता ने सुमित का एनकाउंटर करने वाले इंस्पेक्टर को धमकी देते हुए कहा है वो इंस्पेक्टर की औकात याद दिला देंगे। अगर हिम्मत है तो सामने आए इंस्पेक्टर के दो टुकड़े कर दे .....

यही नहीं बकायदा अपनी इस धमकी की अतुल प्रधान हामी भी भराते दिख रहे है। ये वीडियो दो दिन पुराना बताया जा रहा है, जो कि मेरठ जनपद के मखदुमपुर में एक जनसभा के दौरान रिकॉर्ड किया गया। अतुल प्रधान सपा के पूर्व छात्र सभा अध्यक्ष रह चुके है। और पूर्व मुख्यमंत्री अखलेश यादव के बेहद करीबी बताए जा रहे है। सुमित गुर्जर बागपत के थाना सिंघवाली अहीर क्षेत्र के चिरचिटा गांव का रहने वाला था और 3 अक्टूबर को ग्रेटर नोएडा में उसका एनकाउंटर कर दिया गया था।

वहीं वीडियो वायरल होने पर अतुल प्रधान मीडिया के सवालों से बचते नजर आए। अतुल ने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है। उन्होंने तो केवल इतना कहा था कि वर्दी के गुंडे के रुप में वह( इंसपैकेटर) काम कर रहा है। और अगर उसको लोंगो को इसी तरह मारना है। तो बदमाश के रुप में लोंगो के बीच में पहुंचे तो जनता उसको सबक सिखा कर दिखा देगी।

नोएडा में बीती 3 अक्टूबर को हुए एनकाऊंटर पर मृतक के परिजन सवाल उठा रहे हैं। अब इस पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग को लेकर बकायदा मेरठ में पंचायत का आयोजन किया गया। मेरठ कमिश्नरी चौराहे पर इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग को लेकर एक पंचायत का आयोजन किया गया। परिजनों का कहना है कि जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिलेगा तब तक उनका ये आंदोलन जारी रहेगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story