Top

महाभोज की मौज : बढ़ सकती हैं केजरीवाल की मुश्किलें, बीजेपी कर रही न्यायिक जांच की मांग

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 9 April 2017 1:04 PM GMT

महाभोज की मौज : बढ़ सकती हैं केजरीवाल की मुश्किलें, बीजेपी कर रही न्यायिक जांच की मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बीजेपी ने दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी द्वारा दिए गए महाभोज में जनता का पैसा लुटाए जाने पर रविवार को जांच करने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष बीजेपी नेता विजेंदर गुप्ता ने आरोप लगाते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी लोगों को गुमराह कर रही है कि मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जबकि ऐसा नहीं हुआ है बताइए जाँच कौन कर रहा है। कब और कहाँ दिए गए जाँच के आदेश।

ये भी देखें :BJP विधायक के विवादित बोल, कहा- राम मंदिर का विरोध किया तो काट डालूंगा सिर

गुप्ता ने कहा हम चाहते हैं, कि सिसोदिया जनता के बीच आकर बताएं कि मामले की जांच के लिए कब और कौन सी समिति गठित की गई है। सरासर लोगों को मूर्ख बनाया जा रहा है, और करदाताओं का पैसा व्यक्तिगत जरूरतों पर खर्च किया जा रहा है।

बीजेपी नेता ने आरोप लगाया है, कि सरकार ने सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास पर 11 और 12 फरवरी को दिए गए भोज में आमंत्रित 80 मेहमानों पर कई लाख खर्च किए। हमारी मांग है कि उप-राज्यपाल न्यायिक जांच बिठाएं।

आपको बता दें दिल्ली में इसी महीने निकाय चुनाव होने हैं, और आप ने विरोधी बीजेपी को बड़ा मुद्दा दे दिया है। अब देखना ये होगा कि मतदाता किस पर भरोसा करता है और किसे ठुकरा देता है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story