Top

घर का भेदी लंका ढाए! BJP सांसद पर भारी पड़े पार्टी के ही ये वरिष्ठ नेता

अपनी विवादित कार्यशैली से चर्चा में रहने वाली बाराबंकी से भाजपा सांसद प्रियंका सिंह रावत की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। इस बार उनपर आई मुसीबत का कारण और कोई

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 20 Dec 2017 4:43 AM GMT

घर का भेदी लंका ढाए! BJP सांसद पर भारी पड़े पार्टी के ही ये वरिष्ठ नेता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: अपनी विवादित कार्यशैली से चर्चा में रहने वाली बाराबंकी से भाजपा सांसद प्रियंका सिंह रावत की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। इस बार उनपर आई मुसीबत का कारण और कोई नहीं बल्कि उनकी अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक बन हैं।

- बाराबंकी में यह नेता सबसे ज्यादा जनाधार वाले नेता माने जाते हैं। साथ-साथ यह केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंहके करीबी भी हैं।

- हम बात कर रहे हैं वरिष्ठ भाजपा नेता और हैदरगढ़ से पूर्व विधायक सुन्दर लाल दीक्षित की। इन्होने पत्र में प्रियंका पर गंभीर आरोप लगाते हुए भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से कार्रवाई की माँग की है।

- सांसद द्वारा उच्च जाति के अधिकारी के साथ कठोर व्यवहार का जिक्र करते हुए सुन्दर लाल ने कहा कि सांसद का व्यवहार तो निन्दनीय है ही साथ-साथ उनकी कार्यशैली से भाजपा की साख गिरती जा रही है।

सांसद पर भारी पड़ सकता है बीजेपी नेता का ये पत्र:

- दीक्षित का यह विरोध सांसद को काफी महंगा पड़ सकता है क्योंकि जनपद में उनसे बड़ा जनाधार वाले नेता शायद ही कोई हो।

- दीक्षित गृहमंत्री राजनाथ सिंह के काफी करीबी माने जाते हैं।

- इन्होने सांसद पर गम्भीर आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय से सांसद पर कार्रवाई की मांग की है।

- दीक्षित ने अपने पत्र में प्रधानमंत्री को याद दिलाया है कि कैसे उनकी मन्शा के उलट सांसद ने अपने ही पिता को अपना प्रतिनिधि बनाकर प्रधानमंत्री के आदेशों की अवहेलना की थी। तब प्रधानमंत्री के सीधे हस्तक्षेप के बाद सांसद ने अपने फैसले को बदला था।

- प्रधानमंत्री को याद दिलाया कि कैसे सांसद ने उनके ड्रीम प्रोजेक्ट आदर्श ग्राम योजना का मज़ाक बना करगांव गोद लेने के बाद दोबारावहां मुड़कर नही देखा।

- उन्होंने प्रधानमंत्री को इस बात से भी अवगत कराया कि सांसद ने हाल ही में 20,000 स्क्वायर फिट में अपना आलीशान मकान का निर्माण कराया जो उनकी आय से कई गुना ज्यादा है। इस मकान की वजह से भी सांसद पार्टी की साख को बट्टा लगा रही है।

लगाए ये गंभीर आरोप:

- दीक्षित ने अपने पत्र में सांसद पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को संरक्षण देने का गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि सांसद द्वारा हाल ही में आईएएस और सिरौलीगौसपुर के उपजिलाधिकारी अजय द्विवेदी द्वारा चर्चित विवाद इसका जीता जागता उदाहरण है।जिसमें सांसद उस व्यक्ति का पक्ष लेती दिखीं जिसने सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा था।

- ऐसे व्यक्ति के लिए सांसद ने अजय द्विवेदी से अभद्रता और हाथापाई की।

- दीक्षित ने आरोप लगाते हुए कहा कि सांसद का उच्च जाति के अधिकारियों से बहुत रूखा व्यवहार रहा है।

- जिलाधिकारी योगेश्वरराम मिश्रा से विवाद, जिलाधिकारी अजय से विवाद, अपर पुलिस अधीक्षक कुँवर ज्ञानंजय सिंह को सार्वजनिक तौर पर बेइज़्ज़त करने का विवाद, आईएएस अजय द्विवेदी से हाल ही में विवाद और मुकदमा लिखे जाने के बाद जिलाधिकारी अखिकेश तिवारी से विवाद इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है ।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story