Top

CM योगी की जनसभा में पुलिसवालों ने जमकर रौंदा 'सबका साथ-सबका विकास'

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 23 Nov 2017 2:00 AM GMT

CM योगी की जनसभा में पुलिसवालों ने जमकर रौंदा सबका साथ-सबका विकास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को वाराणसी में थे। यहां उन्होंने एक चुनावी जनसभा को संबोधि‍त किया। चुनावी माहौल है, यह सब तो चलता रहता है। लेकिन हम आपको कुछ और बताने वाले हैं। आपको याद तो होगा ही विधानसभा चुनावों के समय बीजेपी ने नारा गढ़ा था.. 'सबका साथ और सबका विकास'। जी सही पकड़े! वही जिसे सुन आप ने यूपी में कमल खिला दिया। उसकी ऐसी दुर्गति हुई की अब पुलिस वाले भी कुछ बोलने से बच रहे हैं। अब आप सोचने लगे होंगे कि ये नारे की दुर्गति में पुलिस कहां से आ गई। तो जनाब बिना किसी भूमिका के आगे पढ़ लीजिए...

ये भी देखें:गुस्ताखी माफ! राहुल बाबा राजनीति करनी है, तो इमोशंस से खेलना अपनी दादी से सीखो

रामनगर में सीएम योगी जनसभा में आने वाले थे। मंच से ऐलान भी हो गया। इसी दौरान सुरक्षा में लगे पुलिस वाले 'सबका साथ और सबका विकास' के बैनर को पैरों तले रौंदते आगे निकलते नजर आए। एक-दो पुलिसकर्मी नहीं वहां से जो भी पुलिसवाला निकला उसने सबके विकास पर जूता जरुर रखा। किसी पुलिसवाले ने बैनर को किनारे रखने के बारे में नहीं सोचा। वहीं जब कुछ बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इसे देखा तो उठा के किनारे रखा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story