Top

मैं गुरूद्वारे में आज भी बिन बुलाए जाता हूं, ये है मेरा अधिकार: सीएम योगी

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 29 Oct 2018 1:43 PM GMT

मैं गुरूद्वारे में आज भी बिन बुलाए जाता हूं, ये है मेरा अधिकार: सीएम योगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सोमवार को सिख सम्‍मेलन में शिरकत की। इस मौके पर उन्‍होंने गुरू नानक देव के 550 वें प्रकाश पर्व को जल्‍द शुरू करने का आश्‍वासन दिया। सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सिखों के इतिहास का गुणगान करते हुए कहा कि मैं जब सिख पंथ के इतिहास को देखता हूं तो इसे देश को विधर्मियों के चुंगल से आज़ाद करवाने वाले इतिहास के रूप में देखता हूं। उन्‍होंने कहा कि गुरूद्वारे में मैं आज भी बिना बुलाए जाता हूं। मैं इसे अपना अधिकार समझता हूं।

ये भी देखें: MP में किसानों का कर्ज 10 दिन में माफ न हुआ तो CM बदल देंगे: राहुल

सिखों को खुद मिलने चाहिए उनके अधिकार

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि सिख पंथ का इतिहास भारत को हमेशा एक ऊर्जा से ओतप्रोत करते मिलता है। मुझे आश्‍चर्य होता है जब कोई सिख को कुछ देने के लिए कहता है। सिख को तो खुद का अधिकार स्वयं मिलना चाहिए। जिस गौरवशाली परंपरा के आप लोग वंशज हैं, आप उस पर गर्व करिए। सिख गुरूओं ने इसका संदेश दिया है।

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि आप सबको अपने इतिहास पर गर्व होना चाहिए। सिख समाज को किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है। जो भी हम सब के बीच में फूट डालने का काम करेगा तो वह गुरू का अपमान करेगा। यह नहीं होने देना है।

ये भी देखें: राहुल ने PM पर बोला हमला, कहा- मोदी ने कश्मीर में आतंकियों के लिए खोले दरवाजे

गुरू तेग बहादुर हम सबके गुरू

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि गुरु तेग बहादुर सिंह हम सभी के गुरु हैं। कहीं कोई भेदभाव नहीं है। सब एक हैं। जब भी कोई फूट डालने का प्रयास करेगा, उसकी स्थिति खराब हो जाएगी। जब तक कश्मीर में हिन्दू राजा थे। तब तक हिन्दू, सिख समेत सभी सुरक्षित थे। लेकिन हिंदू राज के पतन के बाद आज आप हाल देख सकते हैं।

ये भी देखें: शिवपाल यादव को मिला इस कट्टर समाजवादी नेता का साथ, सपा सांसद हुए बागी

हम लोग ही लगाते हैं केसरिया झंडा

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि हम जैसे लोग ही केसरिया झंडा अपने घर पर लगा सकते हैं। न कोई बसपाई ये झंडा लगाएगा और न ही कोई सपाई ये झंडा लगाएगा। ये हिम्‍मत कांग्रेस के पास भी नहीं है। वर्ष 1984 मामले में हम कानपुर जैसी जगहों के लिए एसआईटी का गठन करने का आदेश पहले ही दे चुके हैं। जब तक प्रदेश में हम हैं, आपको बोलने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको आपके अधिकार मिल जाएंगे। प्रदेश सरकार 550 वें प्रकाश दिवस पर आपके साथ है। गुरु परंपरा का सम्मान हम भी करते हैं और करते रहेंगे।

गुरूनानक के नाम पर होगा अच्‍छी संस्‍था का नाम

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि कोई भी अच्छी संस्था का नामकरण हम गुरु नानक जी के नाम पर करेंगे। ये हमारा दायित्व है और वह हम करेंगे। इन महापुरुषों के कारण हम स्वाधीनता की श्‍वास ले पा रहे हैं।

मोदी जी के अभियान में सभी लोग लगे। यदि किसी को कोई कंफ्यूजन है तो उसे समझिए। पूरे समाज को जोड़ने का काम करें। जिन महापुरूषों ने देश के लिए काम किया है, उनके नाम को विवादित नहीं करना चाहिये। विवाद में पड़ने के बजाय आगे की पीढ़ी उनसे शिक्षा ले पाएं ऐसा काम करना चाहिये।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story