Top

योगी को दिखाए काले झंडे, सीएम बोले शोहदों से निपट नहीं सकते तो छोड़ो नौकरी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 26 Aug 2017 11:48 AM GMT

योगी को दिखाए काले झंडे, सीएम बोले शोहदों से निपट नहीं सकते तो छोड़ो नौकरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया: सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज बाढ़ का जायजा लेने सीमावर्ती जिले बलिया में हैं, इसी दौरान एक कार्यक्रम में सुरक्षा व्यवस्था को तोड़कर दो छात्र नेताओं ने योगी को काले झंडे दिखाए। सीएम के साथ ही नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी भी बलिया में थे।

पहले बात करते हैं काले झंडे दिखाने वालों कि, योगी आदित्यनाथ के भाषण देते समय छात्र नेता अमित दुबे व रूपेश चौबे ने कार्यक्रम स्थल पर उन्हें काले झंडे दिखा मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस दौरान सीएम बलिया में पिछले दिनों हुए रागिनी हत्याकांड को लेकर बोल रहे थे। पुलिस ने छात्र नेताओं को हिरासत में ले लिया है।

ये भी देखें:शामली : राम रहीम डेरे में डटे अनुयाइयों को पुलिस ने खदेड़ा, प्रशासन का कब्जा

अब बात करते हैं योगी के बलिया दौरे और बाढ़ से जुड़ीं घटना की, सीएम ने बाढ़ पीड़ितों से मुलकात कर उन्हें बताया कि बाढ़ के स्थायी समाधान व बचाव के लिये कार्ययोजना तैयार कर केंद्र सरकार को भेजा गया है। सिंगही ग्राम में आज दोपहर बाढ़ राहत वितरण कार्यक्रम में बोलते हुए योगी ने कहा, कि जिन दलों ने 15 वर्ष में उत्तर प्रदेश को चारागाह बनाया, लूटा तथा राजनीति का अपराधीकरण उन्हें उत्तर प्रदेश का विकास के एक नये युग मे आगे बढ़ना अच्छा नही लग रहा।

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि विपक्षी दलों को लगता है, कि उत्तर प्रदेश इसी तरह आगे बढ़ता रहा तो उनके जातिवाद व परिवारवाद की राजनीति पर संकट आ जायेगा। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि जातिवाद व परिवारवाद की राजनीति करने वाले राजनीतिक दलों के दिन अब लद गये है।

ये भी देखें:#RamRahim: सेना, सरकार ने कहा- नहीं घुसे डेरा मुख्यालय में

आदित्यनाथ ने बाढ़ की चर्चा करते हुए कहा कि बाढ़ के स्थायी समाधान व बचाव के लिये कार्ययोजना तैयार कर इसे केंद्र को प्रेषित कर दिया गया है। उन्होंने जानकारी दी कि उत्तर प्रदेश में बाढ़ से 25 जनपद सर्वाधिक प्रभावित हैं।

उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा मानव के नियंत्रण में तो नही है लेकिन बाढ़ ऐसी आपदा नही है। जिसे रोका नही जा सकता । इसके लिये व्यापक तैयारी करनी होगी । उन्होंने इसके साथ ही कहा कि आपदा के पूर्व बेहतर प्रबंधन से जन- धन की हानि को रोका जा सकता है।

उन्होंने कहा कि नेपाल से आने वाली नदियों के कारण हर वर्ष उत्तर प्रदेश में व्यापक जन-धन की हानि होती है। उन्होंने जानकारी दी कि बाढ़ से निबटने व राहत एवं बचाव कार्य के लिये हर जनपद में प्रभारी मंत्री को लगाया गया है। इसके साथ ही हर जिले को पर्याप्त मात्रा में राहत सामग्री व पर्याप्त धनराशि का आवंटन किया गया है।

सीएम ने कहा कि जिला प्रशासन, एनडीआरएफ व आर्मी को बाढ़ राहत कार्य मे लगाया गया है। एयरफोर्स के विमान का उपयोग भोजन का पैकेट गिराने व हर बाढ़ पीड़ित को राहत व सहायता उपलब्ध कराने के लिये किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जन हानि के मामले में 4 लाख रुपये की सहायता दी जायेगी । इसके साथ ही जिनका पक्का मकान क्षतिग्रस्त हो गया हो , उन्हें 95 हजार 1 सौ रुपये तथा झोपड़ी व कच्चे मकान गिरने के मामले में आर्थिक मदद के साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना से आवास दिया जायेगा। उन्होंने निर्देश दिया कि फसल नष्ट होने व गरीब को पक्का मकान मुहैया कराने के लिये इनकी सूची तत्काल तैयार की जाय ताकि समयबद्ध तरीके से आर्थिक मदद दी जा सके।

ये भी देखें:बप्पा के स्वागत में लखनऊ में बनाया एफिल टावर, लोगों ने ली जमकर सेल्फी

मुख्यमंत्री ने महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा के मामले में कड़े तेवर अख्तियार करते हुए कहा कि इस मामले में कोई लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होंने कहा कि हर हाल में महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा की जाए। उन्होंने शोहदों से सख्ती से निपटने का निर्देश दिया तथा कहा कि शोहदे समाज के लिये खतरा है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि यदि वे ऐसे तत्वों से सख्ती से नहीं निपट सकते तो उन्हें नौकरी करने का कोई अधिकार नही है।

अब पढ़िए नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने क्या कहा, उन्होंने बताया कि मुलायम सिंह यादव का पूरा आशीर्वाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ है। शिवपाल सिंह अपने भतीजे अखिलेश को नही छोड़ सकते।

ये भी देखें:केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने की पुष्टि, हरियाणा हिंसा में अबतक 31 लोगों की मौत

उन्होंने योगी सरकार पर तीखे हमले करते हुए कहा कि योगी सरकार अपनी अकर्मण्यता को छिपाने के लिये अपनी हर विफलता के लिये पूर्ववर्ती सरकारों को जिम्मेदार ठहराती है।

उन्होंने योगी सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताया तथा आरोप लगाया कि योगी सरकार का पुलिस व प्रशासन पर कोई नियंत्रण नही रह गया है। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बद से बदतर हो गयी है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story