Top

पकड़ा गया फर्जी डिप्‍टी सीएम, पुलिस वालों से कहा- 7 दिन पहले मिला पद

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 19 July 2018 9:40 AM GMT

पकड़ा गया फर्जी डिप्‍टी सीएम, पुलिस वालों से कहा- 7 दिन पहले मिला पद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: सूबे में एक फर्जी डिप्‍टी सीएम को पुलिस ने अरेस्‍ट किया है। उपमुख्यमंत्री का स्टीकर और लाल बत्ती लगाकर घूम रहे सहारनपुर के अनुरोध कर्णवाल को पल्लवपुरम पुलिस ने पकड़ लिया है। आरोपी डस्टर कार में घूम रहा था। जब पुलिस ने उसे रोका तो उसने अपने आपको उपमुख्यमंत्री बताया और बोला कि अभी उसने शपथ नहीं ली है। पुलिस ने जब उसके परिवार वालों से बताचीत की तो उन्‍होंने उसे मानसिक रूप से बीमार बताया। अनुरोध कर्णवाल सहारनपुर के वरिष्ठ भाजपा नेता राजेंद्र कर्णवाल का बेटा है।

ये भी पढें:किसान कल्‍याण रैली: इस मंत्री को मिला 2 दिन में 12 जनसभा, 2 कार्यकर्ता बैठकों का टारगेट

पुलिस को अर्दब में ले रहा था आरोपी

अनुरोध कर्णवाल की डस्‍टर गाड़ी 24 घंटो तक मेरठ की सडकों पर दौड़ रही थी। इतना ही नहीं सरकारी कार्यालयों के बाहर भी ये गाड़ी रूकी थी। जैसे ही पुलिस को इसकी जानकारी मिली, गाड़ी की तलाश में जुट गई। पुलिस ने दिल्ली—देहरादून हाइवे के मोदीपुरम फ्लाईओवर के के नीचे चैकिंग के दौरान इस कार को रोक लिया। डस्टर कार के शीशे पर उपमुख्यमंत्री का स्टीकर लगा हुआ था। इस स्टीकर पर भाजपा के बैनर के साथ गृह एवं खनन विभाग भी लिखा हुआ था।

आरोपी ने पूछताछ के दौरान खुद को अनुरोध कर्णवाल निवासी बेहट रोड सहारनपुर बताया। उसने बताया कि वह सात दिनों पहले ही उपमुख्यमंत्री बना है। उसने अभी शपथ ग्रहण नहीं की है। फर्जी उपमुख्यमंत्री ने रौब गालिब करते हुए कई पुलिकर्मियों को भी धमकाया। इसके बाद पुलिस उसे थाने ले गई।

ये भी पढें:सोशल मीडिया पर बीजेपी को जवाब देने के लिए सपा के ‘डिजिटल यौद्धा’

पुलिस ने गाड़ी का काटा चालान

पल्लवपुरम थाना इंस्पेक्टर दिलीप शर्मा के मुताबिक अनुरोध कर्णवाल के परिजनों से बात हुई है। परिवार वालों ने उसे मानसिक रूप से बीमार बताया है। लालबत्ती उतारकर विभिन्न धाराओं में गाड़ी का चालान कर युवक को उसके परिवार वालों को सुपुर्द कर दिया गया है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story