Top

बीजेपी के केशव बोले : मैंने शपथ के पहले ही दे दिया था इस्तीफा, उत्तराधिकारी का इंतजार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 26 April 2017 1:50 PM GMT

बीजेपी के केशव बोले : मैंने शपथ के पहले ही दे दिया था इस्तीफा, उत्तराधिकारी का इंतजार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा : सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्या ने आगरा में कहा कि मैंने शपथ लेने से पहले ही प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। आगरा दौरे पर आए मौर्या में सर्किट हाउस में डीएम, एसएसपी सहित बीजेपी नेताओं से मुलाकात कर उन्हें सरकार की प्राथमिकता के बारे में भी बताया।

ये भी देखें : अखिलेश बोले- हमारे समय को गुंडाराज कहने वाले देखें, अब तो कोई शिकायत भी नहीं कर पाता

मौर्या ने कहा कि भाजपा की सरकार बनने के बाद सबसे पहले एंटी रोमियो दल बनाया, जिसका असर उत्तर प्रदेश में देखने को मिला और अब सीएम योगी आदित्यनाथ भूमाफिया के खिलाफ दल बना रहे हैं। जिससे उत्तर प्रदेश में हो रहे अवैध कब्जे पर रोक लग सकेगी, वहीँ डिप्टी सीएम ने कहा कि अब अपराधी इस सिस्टम से बाहर चले जाएं।

हाल में ही आगरा थाना सदर में हिंदूवादी संगठन ने जो बवाल किया था, उसपर मौर्या कहा कि जो हिंदूवादी संगठनों पर गलत मुकदमें किये गए हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी। पुलिस में जो दोषी है उसके खिलाफ कार्यवाही होगी। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर बोलते हुए कहा, कि अब अखिलेश विश्राम करें हर बात पर टिप्पणी करना सही नहीं।

जब मौर्या से भाजपा के एक व्यक्ति एक पद सिद्धांत के बारे में पुछा गया तो केशव प्रसाद मौर्य ने कहा शपथ लेने से पहले मैंने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया है, जैसे ही मेरा उत्तराधिकारी आयेगा मैं चला जाऊँगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story