Top

मध्य प्रदेश: बीजेपी को एक और झटका, विधानसभा उपाध्यक्ष की सीट कांग्रेस के खाते में

मध्य प्रदेश(एमपी) के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली हार के बाद आज एक बार फिर एक और बड़ा झटका लगा है। एमपी में आज उपाध्यक्ष पद के निर्वाचन की प्रक्रिया पूर्ण कर कांग्रेस विधायक हिना कांवरे को उपाध्यक्ष निर्वाचित घोषित कर दिया गया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 10 Jan 2019 2:44 PM GMT

मध्य प्रदेश: बीजेपी को एक और झटका, विधानसभा उपाध्यक्ष की सीट कांग्रेस के खाते में
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोपाल: मध्य प्रदेश(एमपी) के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली हार के बाद आज एक बार फिर एक और बड़ा झटका लगा है। एमपी में आज उपाध्यक्ष पद के निर्वाचन की प्रक्रिया पूर्ण कर कांग्रेस विधायक हिना कांवरे को उपाध्यक्ष निर्वाचित घोषित कर दिया गया। उपाध्यक्ष पद के लिए कांवरे कांग्रेस प्रत्याशी थीं, जबकि भाजपा की ओर से पूर्व मंत्री जगदीश देवड़ा को उपाध्यक्ष पद का प्रत्याशी बनाया गया था। इसके साथ ही मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गई।

कार्यवाही शुरू होते ही एनपी प्रजापति ने उपाध्यक्ष के निर्वाचन संबंधी प्रक्रिया शुरू करते हुए कार्यसूची में शामिल प्रस्तावों को पढ़ना शुरू किया। इस बीच पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा ने व्यवस्था का प्रश्न उठाने का प्रयास किया, जिसे अध्यक्ष ने यह कहते हुए अनुमति प्रदान नहीं की कि निर्वाचन की कार्यवाही जारी है। इस पर विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आपत्ति जतायी और कहा कि पूर्व अध्यक्ष अपनी बात रखना चाहते हैं, उन्हें सुना जाए।

अध्यक्ष ने कहा कि वे कार्यवाही पर आगे बढ़ रहे हैं। इस बात को लेकर भाजपा के अनेक सदस्य एकसाथ बोलकर हंगामा करने लगे। इसके चलते अध्यक्ष ने कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित कर दी। अध्यक्ष ने कार्यवाही आगे बढ़ाना चाहा, लेकिन विपक्षी सदस्य अपनी बात पर अड़े रहे। हंगामे के चलते अध्यक्ष ने कार्यवाही फिर से दस मिनट के लिए स्थगित कर दी।

सदन फिर से शुरू होने पर भी हंगामा जारी रहा। वहीं अध्यक्ष प्रजापति ने उपाध्यक्ष के निर्वाचन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाना जारी रखा और हंगामे के बीच ही ध्वनिमत से हिना कांवरे को उपाध्यक्ष निर्वाचित घोषित किया। इसके बाद अध्यक्ष ने कांवरे को शुभकामनाएं प्रेषित कीं और कार्यवाही पुन: दस मिनट के लिए स्थगित कर दी।

ये भी पढ़ें...मध्य प्रदेश में किसानों का दो लाख तक का कर्ज होगा माफ, इन्हें भी मिलेगा लाभ

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story