Top

चन्द्रबाबू की अपील के बाद ममता बनर्जी ने धरना किया खत्म, कहा- ये लोकतंत्र की जीत है

कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर सीबीआई छापे से नाराज चल रही सीएम ममता बनर्जी ने आज तीसरे दिन धरना खत्म कर दिया। वह मोदी सरकार पर सीबीआई के दुरपयोग का आरोप लगाकर बीते दिनों से धरने पर बैठी हुई थी। आज उन्होंने चंद्रबाबू नायडू की उपस्थिति में धरना खत्म करने का निर्णय लिया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 5 Feb 2019 1:06 PM GMT

चन्द्रबाबू की अपील के बाद ममता बनर्जी ने धरना किया खत्म, कहा- ये लोकतंत्र की जीत है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर सीबीआई छापे से नाराज चल रही सीएम ममता बनर्जी ने आज तीसरे दिन धरना खत्म कर दिया। वह मोदी सरकार पर सीबीआई के दुरपयोग का आरोप लगाकर बीते दिनों से धरने पर बैठी हुई थी। आज उन्होंने चंद्रबाबू नायडू की उपस्थिति में धरना खत्म करने का निर्णय लिया। बताया जा रहा है कि चन्द्रबाबू नायडू की अपील पर ही ममता ने धरना खत्म किया है। उन्होंने इसे लोकतंत्र की जीत भी बताया है।

उधर आज इसी मसले पर आज सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को जांच में सहयोग करने और CBI के सामने पेश होने का निर्देश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आखिर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने में दिक्कत क्या है? हालांकि तीन जजों की बेंच ने साफ किया कि राजीव कुमार की गिरफ्तारी नहीं होगी। राजीव कुमार को मेघालय के शिलांग में सीबीआई के समक्ष एक तटस्थ स्थान पर पेश होना होगा।

ये भी पढ़ें...पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष घोष बोले- पीएम बनने की लिस्ट में पहला नाम ममता बनर्जी का

अखिलेश, केजरीवाल भी ममता के समर्थन में उतरे

जानकारी के अनुसार समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी समर्थन में उतरे हैं।अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार की उत्पीड़नकारी नीतियों और CBI के खुलेआम राजनीतिक दुरुपयोग के कारण जिस तरह देश, संविधान और जनता की आज़ादी ख़तरे में है, उसके ख़िलाफ़ ममता बनर्जी जी के धरने का हम पूर्ण समर्थन करते हैं। आज देश भर का विपक्ष और जनता अगले चुनाव में भाजपा को हराने के लिए एकजुट है।

बिना कागजात के आई थी सीबीआई:ज्वाइंट कमिश्नर

ज्वाइंट कमिश्नर क्राइम, कोलकाता पुलिस प्रवीण त्रिपाठी ने कहा कि सीबीआई अधिकारियों की एक टीम बिना किसी कागजात के आई थी, जिसे उन्होंने ‘गुप्त’ कहा था। जब उनसे पूछा गया कि ऑपरेशन किस बारे में है, तो वे संतोषजनक प्रतिक्रिया नहीं दे सके।

एससी के निर्देशों पर काम कर रही है सीबीआई :जीवीएल नरसिम्हा

जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि सीबीआई एससी के निर्देशों के अनुसार काम कर रही है, किसी भी राज्य सरकार के पास उन्हें बाधित करने या रोकने की शक्ति नहीं है। यह असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक है। हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट इस घटना को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार को एक दिशा देगा अन्यथा कोई भी एजेंसी इस देश में काम नहीं कर पाएगी।

राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई के पास है पुख्ता सुबूत: नागेश्वर राव

बता दें कि बीतें दिनों ममता बनर्जी के समर्थन में पश्चिम समेत पूरे देश में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे। टीएमसी के कार्यकर्ता जगह जगह ट्रेन रोक रहे थे। वहीं इस मामले पर अंतरिम सीबीआई प्रमुख एम नागेश्वर राव ने कहा कि हमारे पास (राजीव कुमार) के खिलाफ सबूत हैं, इस सबूत को नष्ट करने और न्याय में बाधा डालने का काम कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें...पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष घोष बोले- पीएम बनने की लिस्ट में पहला नाम ममता बनर्जी का

बीजेपीपश्चिम बंगाल में बना रही तख्ता पलट की योजना: टीएमसी

-टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने आशंका जताई कि बीजेपी पश्चिम बंगाल में संवैधानिक तख्तापलट की योजना बना रही है. उन्होंने ट्वीट किया बीजेपी संवैधानिक तख्तापलट की तैयारी कर रही है, 40 सीबीआई अधिकारी कोलकाता पुलिस कमिश्नर के दफ्तर को घेरकर रखे हैं|

राहुल समेत इन नेताओं ने किया था समर्थन

ममता बनर्जी के धरने पर लगभग पूरा विपक्ष एक साथ आ खड़ा हुआ था कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सपा प्रमुख अखिलेश यादव, राजद नेता तेजस्वी यादव, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला, बसपा प्रमुख मायावती, शरद पवार और चंद्रबाबू नायडु ने भी ममता बनर्जी से बात की थी।

राज्यपाल से मिले मुख्य सचिव और DGP

देर रात राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी से राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी ने मुलाकात कर राज्य के ताजा हालात के बारे में बताया था। उधर रोज वैली और शारदा पोंजी घोटाले जैसे मामलों में सीबीआई की ओर से तलब किए गए कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का बचाव करते हुए ममता ने बीजेपी पर बदले की भावना वाली राजनीति करने का आरोप लगाया।

उन्होंने प्रेस कांफ्रेस कर मोदी सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी नेतृत्व पर भड़कते हुए ममता ने कहा कि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व घटिया किस्म की बदले की राजनीति कर रहा है, ना सिर्फ राजनीतिक पार्टियां उनके निशाने पर है बल्कि वे लोग पुलिस को भी टारगेट कर रहे हैं इस तरह वे पूरी संस्था को बर्बाद करना चाहते हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि हम इसकी निंदा करते हैं|

मोदी शाह से पूरा देश परेशान

ममता बनर्जी रात में ही मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पूरा देश मोदी-शाह से परेशान है। देश में इस समय इमरजेंसी से भी बुरे हालात हैं। ममता ने कहा कि मैं मोदी सरकार के इस रवैये पर अभी धरने पर बैठूंगी।

सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि कमिश्नर के घर जरूरी डॉक्यूमेंट को नष्ट किया जा सकता है। बताया जा रहा कि सीबीआई अब राज्यपाल से इस स्थिति से निपटने की गुहार लगा सकती है। सीबीआई सुप्रीम कोर्ट भी जा सकती है।

‘सीबीआई अफसरों को कर सकते थे गिरफ्तार’,लेकिन हमने उन्होंने छोड़ दिया: ममता

सीबीआई अफसरों को सिर्फ हिरासत में लेने पर ममता बनर्जी ने कहा, ‘मुझे कहते हुए गर्व है कि फोर्स को सुरक्षा देना हमारी जिम्मेदारी थी। बिना नोटिस के आप कोलकाता पुलिस कमिश्नर के घर आए। हम चाहते तो सीबीआई अफसरों को गिरफ्तार कर लेते, लेकिन हमने उन्होंने छोड़ दिया।’

ममता बनर्जी ने कहा कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे अच्छे लोगों में से एक हैं। उनकी ईमानदारी और बहादुरी निर्विवाद है। वह 24×7 काम कर रहे हैं और हाल ही में केवल एक दिन की छुट्टी ली है। वहीं दूसरी ओर चिटफंड घोटाला मामलों की जांच कर रही सीबीआई की एक टीम रविवार शाम कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के आवास पर पहुंची।

ममता ने ट्वीट कर कहा कि बीजेपी नेतृत्व का शीर्ष स्तर राजनीतिक बदले की ओछी भावना से काम कर रहा है। न सिर्फ राजनीतिक दल उनके निशाने पर हैं बल्कि पुलिस को नियंत्रण में लेने और संस्थानों को बर्बाद करने के लिए वे सत्ता का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। हम इसकी निंदा करते हैं।

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, क्या संवैधानिक तख्तापलट की योजना बना रही बीजेपी? CBI के 40 अधिकारियों ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर के घर को घेर लिया, संस्थानों का विनाश बेरोकटोक किया जा रहा है। सोमवार को संसद में हमारी मांग रहेगी कि मोदी को जाना होगा। हम उन सभी विपक्षी दलों के साथ पहुंच रहे हैं और इसे साझा कर रहे हैं जो लोकतंत्र को बचाना चाहते हैं।

क्या है सारदा चिटफंड

साल 2013 में देश की सुर्खियों में आए सारदा घोटाले में 10 हजार करोड़ रुपये की जालसाजी का आरोप है। जिसके मुताबिक सारदा चिटफंड ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सुदीप्त सेन ने कई स्कीमों के जरिए बंगाल और उड़िसा के करीब 14 लाख निवेशकों से पैसा जुटाया और उन्हें ठगा। ईडी अब तक सारदा की छह संपत्तियों की कुर्की कर चुका है, जिसकी कीमत 500 करोड़ रुपये है। एक्टर से राजनीतिज्ञ बने तृणमूल कांग्रेस के सांसद मिथुन चक्रवर्ती ब्रांड एंबेस्डर के तौर पर सारदा कंपनी से लिए गए 1.20 करोड़ रुपये पहले ही ईडी को सौंप चुके हैं।

ये भी पढ़ें...ममता बनर्जी शुरू से ही बीजेपी के ‘लोकतंत्र बचाओ’ आंदोलन के विरोध में: सीम योगी

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story